Tokyo Paralympics: पुरुषों की ऊंची कूद स्पर्धा में निषाद कुमार की ‘चांदी’, भारत की झोली में दूसरा मेडल

टोक्यो पैरालंपिक में महिला टेबल टेनिस क्लास 4 फाइनल मुकाबले में भारत की भाविना पटेल को हार का सामना करना पड़ा। खिताबी मुकाबले में उन्हें चीन की खिलाड़ी झोउ यिंग सीधे सेटों में 3-0 से हरा दिया। झोउ यिंग ने पैरालंपिक में तीसरी बार गोल्ड मेडल जीता है। इस हार के बाद भाविना पटेल को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भाविना ने सेमीफाइनल में झांग मियाओ को हराकर फाइनल तक का सफर तय किया था। भाविना पटेल देश की पहली टेबल टेनिस खिलाड़ी थी जो पैरालंपिक्स में फाइनल तक पहुंचीं। वहीं, पुरुषों की ऊंची कूद स्पर्धा में निषाद कुमार ने रजत पदक जीतकर भारत की झोली में दूसरा मेडल डाला।

फाइनल मुकाबले में भाविना हारीं
टोक्यो पैरालंपिंक में महिला टेबल टेनिस क्लास 4 फाइनल मुकाबले में भारत की भाविना पटेल को हार का सामना करना पड़ा। खिताबी मुकाबले में उन्हें चीन की खिलाड़ी झोउ यिंग सीधे सेटों में 3-0 से हरा दिया। झोउ यिंग पैरालंपिक्स खेलों में तीसरी बार गोल्ड मेडल जीतने में सफल रहीं। इससे पहले उन्होंने 2008 और 2012 पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीता था।

पुरुषों की ऊंची कूद स्पर्धा में निषाद कुमार ने जीता सिल्वर
पुरुषों की ऊंची कूद टी-47 फाइनल स्पर्धा में निषाद कुमार ने 2.06 मीटर की छलांग लगाकर रजत पदक अपने नाम किया। इसके साथ ही उन्होंने एशियाई रिकॉर्ड भी अपने नाम दर्ज किया। निषाद के इस सिल्वर के साथ भारत की झोली में दूसरा मेडल आ गया। बता दें कि निषाद ने 2.02 मीटर की छलांग लगाकर पदक की उम्मीद जगा दी थी। इस स्पर्धा का गोल्ड मेडल अमेरिका के रोडरिक टाउनसेंड ने जीता है। उन्होंने 2.15 मीटर की छलांग लगाई। वहीं तीसरे स्थान पर अमेरिका के ही विसे डलास रहे, जिन्होंने 2.06 मीटर की कूद लगाई। वहीं, राम पाल पहले प्रयास में 1.98 मीटर की छलांग नहीं लगा सके। वह तीनों प्रयास में ऐसा करने में विफल रहे। दूसरे प्रयास में राम पाल ने 1.94 मीटर की छलांग लगाई जो उनका व्यक्तिगत बेस्ट स्कोर रहा। वह पांचवें स्थान पर रहे।