शिमला बन रहा अब कोरोना का हॉटस्पाट

File Photo
शिमला: पहाड़ी की रानी कहलाने वाली हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला (Shimla) जहां टूरिस्ट (Tourist) से हॉटस्पॉट है. वहीं अब कोरोना यह कोरोना का भी हॉटस्पाट है. देश के 19 ग्रामीण जिलों में शिमला जिला सबसे ऊपर हैं. आलम यह है कि यहां अब कोरोना (Corona Virus) के मामले चार गुना रफ्तार से बढ़ रहे हैं. एक माह में यहां 177 फीसदी कोरोना मामलों का इजाफा हुआ है.
शिमला में कितने मामले है
कोरोना के मामलों की बढ़ने की रफ्तार का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अक्तूबर में जहां 1800 एक्टिव केस थे, वहीं एक माह बाद नवंबर में यह मामले 7500 से पार चले गए. सबसे अधिक 171 मौतें शिमला जिले में हुई है. हालांकि, इनमें दूसरे जिलों के लोग शामिल हैं. वहीं, कोरोना से पर्यटन कारोबार पर भारी असर पड़ा है. शिमला में होटलों में कम संख्या में टूरिस्ट पहुंच रहे हैं. शिमला जिले में कोरोना का पहला मामला 24 मई को आया था. शिमला में 2 दिसंबर तक कुल कोरोना मामले अब 7631 पहुंच चुके हैं.
हॉट स्पॉट बनने का कारण
हिल्स क्वीन शिमला कोरोना हॉट स्पाट बन गई है. दरअसल, टूरिस्ट गतिविधियां बढ़ने से यहां कोरोना फैल रहा है. साथ ही शोघी बैरियर को बंद कर दिया गया है. बिना रोक-टोक अब लोग यहां पहुंच रहे हैं. कोरोना गाइडलाइन्स का भी सख्ती से पालन नहीं किया जा रहा है.
अब तक 175 पुलिसवाले संक्रमित हुए
शिमला (Shimla) में कोरोना के चलते हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. कोरोना हॉट स्पॉट बन गए शिमला जिले में सरकार ने नाइट कर्फ्यू (Night Curfer) लगाया है. लेकिन लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती ही जा रही है. शिमला पुलिस पर भी कोरोना (COVID-19) का कहर बरपा है. अब तक अधिकारियों समेत 175 से ज्यादा पुलिसकर्मी (Policemen) कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, जिससे शिमला पुलिस की चिंताएं बढ़ गई हैं.