सराहां: कोरोना से संक्रमित एक 92 वर्षीय वृद्ध व्यक्ति की मौत

सराहां: कोरोना महामारी की भयावहता कितनी है इस का उदाहरण गत 3 मई को सराहां में कोरोना से संक्रमित एक 92 वर्षीय वृद्ध व्यक्ति की मौत होने से चला। जिसका अंतिम संस्कार करने के लिये चार व्यक्ति भी एकत्रित होने मुश्किल हो गये।ऐसे में ग्रामपंचायत सराहां के उपप्रधान नरेंद्र गौसाई व वार्ड नंबर 5 के सदस्य आकाश गौतम व पंचायत के चौकीदार बबलू के प्रयासों से ही उक्त व्यक्ति का अंतिम संस्कार करना सम्भव हुआ।इसमें सराहां बाजार से ही तरुण व विकास वर्मा ने भी मानवता का परिचय देते हुए इस नेक काम मे अपना सहयोग दिया ।हुआ यूं कि 3 मई को डेडिकेटेड कोविड अस्पताल में सराहां के एक 92 वर्षीय वयोवृद्ध व्यक्ति की करोंना संक्रमण से मौत हो गई।

उक्त व्यक्ति के परिजन भी कॅरोना से संक्रमित थे।ऐसे में उनका एक दामाद ही करोंना नेगेटिव था जिसके सामने मृत व्यक्ति का अंतिम संस्कार करना चुनोतिपूर्ण था।ऐसे में उनके सगे रिश्तें दारो ने भी किनारा कर लिया।अंत मे ग्राम पंचायत सराहां के उपप्रधान नरेंद्र गौसाई, आकाश गौतम,बबलू ,विकास व तरुण ने मिल कर उक्त व्यक्ति का अंतिम संस्कार किया तथा अरुण गर्ग ने अपनी पिकअप की सेवाएं इस नेक काम के लिये प्रदान की।इस घटना ने सभी इलाके वासियों का दिल जनझकोर के रख दिया।इस तरह का हादसा किसी के साथ भी हो सकता है।भविष्य में इस तरह की घटना किसी के साथ न घटे इसी को लेकर इलाके के स्वयंसेवको की एक टीम गठित करने का फैसला किया गया।

इलाके के जो भी युवा व स्वयं सेवक अपना योगदान देना चाहते है व अंतिम संस्कार के लिये समान उपलब्ध करवाने के लिये आर्थिक रूप से मदद करना चाहते है वो पंचायत के उप प्रधान से सम्पर्क कर सकते है।आगे की रणनीति टीम के गठित होने के पश्चात की जायेगी।वही जब इस घटना से पच्छाद की विधायिका रीना कश्यप को अवगत करवाया गया तो उन्होंने गहरी सम्वेदनाएँ प्रकट करते हुए आश्वस्त किया कि प्रशासन की और से इस विषय पर जो भी सुविधाएं सम्भव हो सकेगी उसकी योजना बना कर जल्द ही अमल में लाया जाएगा।उन्होंने कहा कि यह एक अति संवेदनशील विषय है और मानवता के नाते यह सभी का कर्तव्य है कि हम एकदूसरे का सहारा बने।