पंचायत चुनाव : कल होगा पंचायत रोस्टर पर फैसला

शिमला प्रदेश में पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव को रोस्टर जारी करने पर सोमवार को फैसला होगा। सरकार सभी जिलाधीशों को इस संबंध में निर्देश जारी करेगी। जिलों में रोस्टर तैयार हो चुका है और सरकार के इशारे का इंतजार है। इसमें तय किया जाएगा कि किस दिन तक रोस्टर जारी हो जाना चाहिए। सोलह से 18 दिसंबर के बीच प्रदेश में पंचायती राज चुनाव की अधिसूचना जारी होने की संभावना जताई जा रही है। अभी प्रदेश का चुनाव आयोग इस पर निर्णय लेगा, जिसके कुछ कर्मचारी खुद ही क्वारेंटीन में हैं। चुनाव अधिसूचना की संभावना को देखते हुए ही सरकार ने सोमवार को रोस्टर पर निर्णय लेने की सोची है।
बताया जा रहा है कि अभी जिला परिषद व पंचायत समिति के रोस्टर कुछ जिलों ने जारी कर दिए हैं। रोस्टर के जारी होने के बाद वहां पर राजनीतिक सरगर्मियां भी तेज होने लगी हैं। पंचायतों में चुनावी शोर रोस्टर के बाद मचना शुरू होता है, जिसका इंतजार किया जा रहा है। इसके जारी होने के साथ चुनाव लड़ने के इच्छुक लोग मैदान में उतर आएंगे, जो अंदरखाते अभी तैयारियां कर रहे हैं, मगर रोस्टर से पता चलेगा कि कहां पर कौन सी सीट आरक्षित है और कौन सी आरक्षित। इसका फार्मूला हालांकि पहले ही जिलाधीशों को जारी किया जा चुका है, जिससे आकलन तो पहले ही हो चुका है, परंतु आबादी के लिहाजा से यह आंकलन बदल भी सकते हैं, इसलिए रोस्टर का इंतजार हो रहा है।
सरकार पूरी तरह से तैयार है। चुनाव के लिए सरकार ने तैयारियां कर रखी हैं। रोस्टर को जारी करने पर फैसला सोमवार को लिया जा सकता है, क्योंकि इसके बाद कभी भी चुनाव की अधिसूचना जारी हो सकती है : वीरेंद्र कंवर, पंचायती राज मंत्री
खत्म होने वाला है इंतजार
पंचायती राज चुनाव को लेकर अभी कई तरह की अटकलें चल रही हैं, मगर सरकार ने अपनी तैयारी कर रखी है। अभी चुनाव आयोग पर निर्भर करता है कि वह अभी चुनाव करवाएगा या नहीं। क्योंकि कोविड जैसी स्थिति का संवैधानिक प्रावधानों में भी कोई उल्लेख नहीं है, परंतु लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ न हो, इसका प्रावधान रखा है। ऐसे में देखना होगा कि रोस्टर कब जारी होगा और अधिसूचना कब होगी। लोगों का इंतजार अब खत्म होने वाला है।