Panchayat Election: दिग्गज नेताओं को जनता ने दिखाई जमीन, पढ़ें पूरा मामला

हिमाचल प्रदेश के सीएम के गृह जिला मंडी में पहले चरण के पंचायती राज चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के कई दिग्गज नेता चुनावी रण में चित्त हो गए हैं। मतदाताओं ने बड़े-बड़े धुरंधरों को जमीन दिखा दी है। वहीं वामपंथियों समेत अनेक निर्दलीय उम्मीदवारों ने खाता खोलकर भाजपा और कांग्रेस को भी नसीहत दे डाली है। जोगिंद्रनगर में सांसद रामस्वरूप के भाई की हार भाजपा के लिए तगड़ा झटका मानी जा  रही है। अपने ही घर में सांसद के रूप में भाजपा का दिग्गज चेहरा सगे भाई को नहीं जिता सका। वहीं नाचन से भाजपा की महिला मोर्चा की अध्यक्ष अंजू देवी बग्गी पंचायत से कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी विकास गुप्ता से हार गईं हैं। सराज में कांग्रेस के वर्तमान अध्यक्ष टेक सिंह देवधार पंचायत से प्रधान पद का चुनाव हार गए हैं। मंडी सदर से विधायक अनिल शर्मा के खास सिपाही ब्लॉक के अध्यक्ष ओम प्रकाश की पत्नी पंचायत चुनाव में हार गई हैं।

चंबा में पंचायत प्रधान का चुनाव हारे भाजपा के मंडल अध्यक्ष
भाजपा मंडल अध्यक्ष विनोद कुमार पंचायत प्रधान का चुनाव हार गए हैं। नव गठित पंचायत टपूण के उम्मीदवार निर्मल कुमार ने 88 वोटों के अंतर से जीत दर्ज की। निर्मल कुमार (गार्ड) को 425 और विनोद कुमार को 325 मत मिले। यहां प्रधान पद के लिए त्रिकोणीय मुकाबला था। मगर तीसरे उम्मीदवार अजय कुमार को महज चालीस मत मिले। वहीं, मंडल अध्यक्ष की पंचायत चुनावों में हार के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म है। प्रधान पद के विजेता उम्मीदवार निर्मल कुमार एक साधारण परिवार से संबंध रखते हैं। बहरहाल, उनकी जीत से लोगों में खुशी की लहर है।

कुन्नोचारंग में टॉस से फैसला, निर्मला को सरदारी
जनजातीय जिला किन्नौर की अति दुर्गम पंचायत कुन्नोचारंग में टॉस से बॉस चुना गया। प्रधान पद के लिए दोनों उम्मीदवारों को बराबर मत पड़े और पंचायत के मुखिया का टॉस से फैसला सुनाया गया। ग्राम पंचायत कुन्नोचारंग प्रधान पद की प्रत्याशी निर्मला देवी और संगीता को 140-140 वोट मिले। उसके बाद टॉस से निर्मला देवी को पंचायत की सरदारी मिली।

अनुराग की गृह पंचायत में पूर्व महामंत्री प्रधान का चुनाव हारे
विकास खंड बमसन की ग्राम पंचायत समीरपुर में भाजपा के पूर्व जिला महामंत्री व वर्तमान हिमफेड के उपाध्यक्ष राकेश ठाकुर पंचायत प्रधान पद का चुनाव हार गए। यह पंचायत पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर की गृह पंचायत है। यहां चंद्रमोहन 288 से चुनाव जीत गए हैं।

जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष भी हार गईं प्रधान का चुनाव
जिला महिला कांग्रेस की अध्यक्ष राकेश रानी वर्मा ग्राम पंचायत लोढर से प्रधान का चुनाव हारीं। कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं केसीसीबी के पूर्व निदेशक अनिल वर्मा गलोड़ खास से प्रधान पद का चुनाव हारे। गलोड़ खास पंचायत से कांग्रेस के जिला महासचिव होशियार सिंह भी चुनाव हारे, केंद्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर की गृह पंचायत समीरपुर पंचायत से भाजपा के पूर्व जिला महामंत्री एवं वर्तमान में हिमफेड के निदेशक राकेश ठाकुर चुनाव हारे।  नादौन भाजपा मंडल के अध्यक्ष हरदयाल सिंह पंचायत जसाई से प्रधान पद का चुनाव हारे।
बिलासपुर, ऊना और हमीरपुर से नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधि पहुंचे समीरपुर
वहीं,  स्थानीय नगर निकायों और ग्राम पंचायतों के पहले चरण के चुनाव के बाद जीते हुए जनप्रतिनिधियों के समीरपुर की ओर रुख कर पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल और केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर से आशीर्वाद लेने के लिए पहुंचने का दौर शुरू हो गया है। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर रविवार से ही समीरपुर आए हुए हैं।  हमीरपुर, ऊना और बिलासपुर जिलों से नगर निकायों व ग्राम पंचायतों से पहले चरण में विजयी रहे प्रधान, उपप्रधान, पार्षद तथा अन्य जनप्रतिनिधियों ने समीरपुर पहुंचकर पूर्व मुख्यमंत्री से आशीर्वाद लिया व केंद्रीय मंत्री से मुलाकात की। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री ने जीते हुए सभी नए जनप्रतिनिधियों को कहा कि पार्टी के आदर्शों व नीतियों को अपनी कार्यशैली में अपना कर जनसेवा में सब लोग जुट जाएं। अनुराग सिंह ठाकुर ने नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों को बधाई देते हुए कहा कि सौभाग्य से देश की बागडोर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे महान नेता के हाथ में है, जो ग्राम पंचायतों व स्थानीय निकायों की मजबूती को देश की मजबूती का आधार मानते हैं।