किसानों की शहादत नहीं जाएगी बेकार, हम किसानों के साथ: भूपेंद्र सिंह हुड्डा

आंदोलनरत किसानों के बीच पहुंच रहे पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा शुक्रवार को हांसी स्थित रामायण टोल प्लाजा पर धरनारत किसानों से मिले। इस मौके पर उन्होंने कहा कि वह पूरी तरह मन, वचन और कर्म से किसानों के साथ खड़े हैं। क्योंकि वह खुद किसान के बेटे हैं और उसका दर्द अच्छी तरह समझते हैं। हुड्डा ने कहा कि किसान अपनी जायज मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। उनके इस संघर्ष में कई किसानों की शहादत हो चुकी है। बावजूद इसके सरकार का दिल नहीं पसीज रहा है। ऐसा लगता है कि मौजूदा सरकार ने किसानियत और इनसानियत दोनों से नाता तोड़ लिया है, लेकिन अन्नदाता के इस संघर्ष में हम पूरी तरह उसके साथ खड़े हैं। किसानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी और आखिरकार सरकार को उनकी मांगे माननी ही पड़ेगी। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने टोल प्लाजा पर किसानों से मुलाकात के बाद पार्टी नेता उमेद लोहान के हिसार स्थित आवास पर पत्रकार वार्ता को भी संबोधित किया।

 इस मौके पर उन्होंने कहा कि पूरे देश से लाखों की तादाद में आए किसान इस कड़कड़ाती सर्दी में दिल्ली के चारों तरफ बैठे हैं। आंदोलन को दो महीने पूरे होने वाले हैंए फिर भी सरकार किसानों को तारीख पर तारीख के फेर में उलझाए हुए हैं। अन्नदाता की ऐसी अनदेखी दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार अन्नदाता के हालात और देश में उसकी भूमिका को समझ नहीं पा रही है। उसे समझना चाहिए उगाता तो एक किसान है लेकिन खाता पूरा हिंदुस्तान है। उसे समझना चाहिए कि मौजूदा सरकार में लगातार किसानों की लागत तो बढ़ रही है। तेलए खाद, बीज के दाम आसमान छू रहे हैं। किसान की आमदनी लगातार कम होती जा रही है।  उनकी मर्जी के खिलाफ  3 नए कानून थोपना किसान के साथ अन्याय है। सरकार को ये कानून वापस लेने चाहिए किसानों को एमएसपी की गारंटी देनी चाहिए।