मंडी: पुलिस ने एटीएम क्लोन बनाकर पैसे निकालने वाले गिरोह को धर-दबोचा

मंडी पुलिस ने रंगे हाथ तकनीक व एक विशेष डिवाइस की मदद से एटीएम क्लोन बनाकर पैसे निकालने वाले गिरोह को धर-दबोचा है। गिरोह के दो सदस्यों को राज्य सहकारी बैंक के एटीएम से और एक भगोड़े आरोपी को जोगिंद्रनगर में बस से पुलिस ने गिरफ्तार किया है। साइबर क्राइम ब्रांच के एक हैड कांस्टेबल की हिम्मत और राज्य सहकारी बैंक मंडी के मैनेजर जितेंद्र जम्वाल व पीडि़त सुनील की समझदारी से मंडी पुलिस को बहुत बड़ी सफलता हाथ लगी है। तीन युवकों के पास से 20 से ज्यादा एटीएम और तीन लाख 18 हजार की नकदी बरामद हुई है।

पकडे़ गए तीन आरोपियों में से दो की पहचान रोहित निवासी हरियाणा और अमन निवासी हरियाणा के रूप में हुई है। तीसरे की पहचान प्रदीप निवासी रोहतक के रूप में हुई है। तीनों 22 साल के बताए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार यह गिरोह पिछले कुछ दिन से मंडी शहर और इसके आसपास के इलाकों में पूरी सक्रियता से काम कर रहा था। गिरोह ने सुंदरनगर से लेकर मंडी तक के एटीएम की रैकी कर रखी थी। इसके बाद इन्होंने कई एटीएम में विशेष प्रकार के डिवाइस लगा दिए थे। जो कि कार्ड को स्कैन कर लेने में सक्षम थे और पासवर्ड का भी पता लगा सकते थे। इसके बाद गिरोह के सदस्यों ने डुप्लीकेट एटीएम बनाकर पैसे निकालते रहे। जिला के तीन लोगों ने पुलिस को उनके एटीएम से पैसे निकलने की शिकायत भी दे रखी थी, जिसकी पुलिस जांच कर रही थी। वहीं, मंडी शहर के स्थानीय दुकानदार सुनील कुमार को कुछ दिन पहले ये युवक एटीएम में मिले। यह युवक सुनील को एटीएम इस्तेमाल के बारे में जानकारी दे रहे थे, जिसे लेने से सुनील ने इन्कार कर दिया।

 इसके बाद सुनील के खाते से 20 हजार निकाल लिए गए। इसके बाद मंगलवार को सुनील पुलिस में शिकायत दर्ज करवाने के बाद दोबारा उस एटीएम में गया, तो ये युवक उसी एटीएम में मौजूद थे। सुनील ने तुरंत इसकी सूचना मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों को दी और पुलिस टीम ने इन्हें वहीं धर दबोच लिया। दो युवक मौके से गिरफ्तार किए गए और तीसरे को जोगिंद्रनगर के पास से गिरफ्तार किया गया है। एसपी शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि युवक खुद को हरियाणा के रहने वाले बता रहे हैं, लेकिन पुलिस इस बात की जांच-पड़ताल कर रही है। युवक पुलिस को चकमा देने की कोशिश कर रहे हैं। इसलिए अभी प्रारंभिक जांच में कुछ स्पष्ट नहीं कहा जा सकता।

अब पुलिस यह जांचने में भी जुट गई है कि इस गिरोह में और कितने लोग हैं। क्योंकि पुलिस को संदेह है कि यह गिरोह काफ ी बड़ा हो सकता है और पुलिस इसकी तह तक जाने की दिशा में काम कर रही है। अभी पुलिस के लिए यह भी चुनौती है कि इस गिरोह ने जिला के कितने एटीएम पर इस तरह से उपकरण लगा रखे होंगे। पुलिस ने लोगों से एटीएम मशीनों का सावधानिपूर्वक इस्तेमाल करने का आह्वान किया है।

जॉब पोर्टल के नाम पर युवक को साढ़े 83 हजार का चूना

बद्दी में ऑनलाइन जॉब पोर्टल के नाम पर ठगों ने एक व्यक्ति को 83442 का चूना लगा दिया। पुलिस थाना बद्दी में अतुल कुमार निवासी चंबा ने शिकायत दर्ज करवाई कि वह बद्दी के एक टैक्सटाइल उद्योग में कार्यरत है। उसे एक मोबाइल नंबर से कॉल आया कि वह जॉब कंस्लटेंट कंपनी से बोल रहे हैं और उसका इंटरव्यू है, कॉल करने वाली लड़की ने 100 की सेवा राशि की मांग की। जिस पर पीडि़त ने अपने सहयोगी अनिल तिवारी के क्रेडिट कार्ड से भुगतान किया, परंतु वेबसाइट में ट्रांजेक्शन पूरी न होने पर चार बार भुगतान कर दिया। इस पर खाते से करीब 83442 निकलने का मैसेज आ गया। इस पर उसे ठगी का एहसास हुआ। शिकायतकर्ता ने पुलिस प्रशासन से आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह ने बताया कि पुलिस ने मुकद्मा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।