कांगड़ा : चनौर गांव के अभिषेक राणा का भारतीय वायु सेना में बतौर फ्लाइंग अफसर हुआ चयन

धर्मशाला: हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले के चनौर गांव के अभिषेक राणा का चयन भारतीय वायु सेना (Indian Airforce) में बतौर फ्लाइंग अफसर (Flying Officer) हुआ है. हाल ही में 4 दिसंबर को हुए एयर फोर्स टेक्निकल कॉलेज जलाहली, बैंगलोर के दीक्षांत समारोह में देहरा उपमंडल के अंतर्गत चनौर गांव अभिषेक भी शामिल था.
उनका चयन राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल, चायल में हुआ था
अभिषेक राणा ने अपनी प्रारभिंक शिक्षा केंद्रीय विद्यालय से की. उसके बाद उनका चयन राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल, चायल (सोलन) में हुआ था. जहां से उन्होंने अपनी 6 वीं से 12 वीं तक की पढ़ाई की. बाद में उन्होंने जेपी यूनिवर्सिटी, वाकनाघाट, सोलन से अपनी बीटेक की पढ़ाई पूर्ण की. बीटेक के दौरान ही उनका चयन एक मल्टीनेशनल कंपनी में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर हुआ और साथ में वो एयर फोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट में टेक्नीकल एंट्री के लिए उत्तीर्ण हुए थे. बचपन से ही वर्दी का शौक और देश सेवा का जज़्बा रखने वाले अभिषेक भारतीय वायु सेना को चुना और सर्विस सिलेक्शन बोर्ड से उत्तीर्ण होकर जनवरी 2019 में एयरफोर्स अकादमी, हैदराबाद में अपनी बेसिक ट्रेनिंग के लिए गए. इसके बाद उन्हें टेक्निकल ट्रेनिंग के लिए एयर फोर्स टेक्निकल कॉलेज भेजा गया था.
पिता सेना में सूबेदार मेजर
अभिषेक ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपनी माता मीना कुमारी को दिया है. अभिषेक के पिता राजिंदर सिंह भारतीय सेना में सूबेदार मेजर हैं. उनका कहना है कि उनके दादा स्वर्गीय मंगत राम भी भारतीय सेना से रिटायर्ड थे और उनका सपना था कि उनका पोता भी आर्म्ड फोर्सेज में अधिकारी बने. खुशी के मौके पर उनकी बड़ी बहन निशा राणा और जीजा अरुण ठाकुर ने उन्हें ढेर सारी शुभकामनाएं दी और साथ ही समस्त परिवार में इस सफलता को लेकर खुशी की लहर है.
बेटी ने भी बढ़ाया मान
भरमौर की बेटी अभिलाषा भरमौरी अब देश सेवा में बतौर अधिकारी सैनिकों की टुकड़ी को कमांड देते हुये नज़र आएगी. दरअसल धर्मशाला के डिग्री कॉलेज में बीएसई की पढ़ाई करने वाली अभिलाषा भरमौरी का चयन इंडियन आर्मी की ओर से दी जाने वाली ऑफिसर ट्रेनिंग अथॉरिटी यानी ओटीए में हुआ है. अभिलाषा भरमौरी का डिग्री कॉलेज धर्मशाला में पहुंचने पर उनके कॉलेज प्रशासन और NCC केडिट्स समेत डिग्री कॉलेज में NCC को लीड करने वाली लेफ्टिनेंट डॉ मोनिका ठाकुर ने जोरदार स्वागत किया. समूचे देशभर से महज़ 35 केडिट्स का ही चयन हुआ है, जिसमें से अभिलाषा भी एक है. कॉलेज प्रिंसिपल डॉ राजेश शर्मा ने बताया कि ये बहुत ही गौरव का विषय है.