Jammu Kashmir : एयरफोर्स स्टेशन पर हमले के दिन एक और हमले की थी साजिश, पाकिस्तानी हैंडलरों की बातचीत हुई थी इंटरसेप्ट

File Photo

एयरफोर्स स्टेशन पर ड्रोन हमले के दिन शहर में एक और हमला करने की साजिश रची गई थी। बठिंडी से आईईडी के साथ पकड़े गए आतंकी नदीम ने इसकी साजिश रची थी।

रात को ड्रोन हमला होने के बाद दिन में शहर में आईईडी से विस्फोट किया जाना था। खुफिया एजेंसियों के सूत्रों का कहना है कि 27 जून को एयरफोर्स स्टेशन के बाद एक और हमला होना था, लेकिन इसे नाकाम कर दिया गया। हमले के बाद खुफिया एजेंसियों ने पाकिस्तानी हैंडलरों की बातचीत को इंटरसेप्ट किया था। इसमें हैंडलरों को यह कहते हुए सुना गया कि एक हमला तो कामयाब हो गया, दूसरा कोई बात नहीं, बाद में देख लेंगे।

जिस दिन एयरफोर्स स्टेशन पर हमला हुआ। उसी रात बठिंडी से रामबन के रहने वाले नदीम उल हक को पुलिस ने साढ़े पांच किलो आईईडी के साथ पकड़ा था। यह आईईडी पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए भेजी गई थी। इसे नदीम ने बठिंडी से लिया था। बठिंडी में एक शख्स ने आईईडी रख दी थी। इसके बाद नदीम को फोन पर एक वीडियो आया कि आईडी बठिंडी में रखी है। आईईडी को 27 जून को दोपहर में शहर में किसी मंदिर के बाहर लगाकर हमला करना है। लेकिन नदीम पकड़ा गया।

बाद में जब मामले की जांच हुई तो नदीम के साथ दो आतंकी और पकड़े गए। ये दोनों शोपियां और बनिहाल के रहने वाले थे। सूत्रों का कहना है कि एयरफोर्स स्टेशन पर हमले के दिन पाकिस्तान में एक ही जगह से दो ड्रोन उड़े थे। हालांकि, अब तक ड्रोन का रूट पता नहीं चल पाया है। लेकिन संभव है कि यह ड्रोन मकवाल बॉर्डर की ओर से आए थे।