IPL फाइनल: कोलकाता नाइटराइडर्स और चेन्नई सुपरङ्क्षकग्स का मुकाबला शाम साढ़े सात बजे से

इयान मोर्गन की कप्तानी वाली कोलकाता नाइटराइडर्स आईपीएल में तीसरी बार और धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरङ्क्षकग्स चौथी बार खिताब जीतने के इरादे से शुक्रवार को होने वाले फाइनल में भिड़ेंगे। चेन्नई का यह नौंवां $फाइनल है, जबकि कोलकाता की टीम तीसरी बार फाइनल खेलेगी। दोनों टीमों ने लीग चरण में टॉप पर रहने वाली दिल्ली कैपिटल्स को हराकर $फाइनल का टिकट हासिल किया है। चेन्नई ने पहले क्वालिफायर में दिल्ली को चार विकेट से हराया था, जबकि कोलकाता ने दिल्ली को रोमांचक संघर्ष में तीन विकेट से पराजित किया।

चेन्नई और कोलकाता का अब शुक्रवार को होने वाले फाइनल में आमना-सामना होगा। दो बार के विजेता कोलकाता का यह तीसरा $फाइनल है और उसने अपने पिछले दोनों फाइनल जीते हैं, जबकि चेन्नई का यह नौंवां $फाइनल होगा और वह तीन बार विजेता रह चुका है। आईपीएल का $फाइनल दोनों कप्तानों की टक्कर का भी मुकाबला होगा। धोनी को आईपीएल $फाइनल खेलने की जैसे आदत पड़ चुकी है और वह इस बात को अच्छी तरह जानते हैं कि $फाइनल के दबाव में कैसे प्रदर्शन करना है। मोर्गन का बल्ला अब तक बिलकुल खामोश रहा है लेकिन इंग्लैंड का यह विश्व कप विजेता कप्तान अपने खिलाडिय़ों से प्रदर्शन निकलवाना जानता है। दोनों की कप्तानी इस $फाइनल का फैसला करेगी।

25 बार आमने-सामने, 16 बार धोनी की टीम विजयी

चेन्नई और कोलकाता के बीच आईपीएल इतिहास पर नजर डालें, तो दोनों टीमें 25 बार आमने-सामने आ चुकी हैं। इस दौरान चेन्नई का रिकार्ड बेहद शानदार रहा ह। कोलकाता की टीम केवल आठ मुकाबले ही जीत पाई है, जबकि चेन्नई ने दोगुने यानी 16 मैचों में जीत दर्ज की। इस दौरान एक मैच का नतीजा नहीं निकल सका है।

कोलकाता नाइटराइडर्स जब फाइनल में पहुंची, खिताब पर किया कब्जा

आईपीएल का इतिहास देखें, तो कोलकाता नाइट राइडर्स ने दो बार खिताब जीता है। 2014, 2012 में कोलकाता चैंपियन बनी थी। खास बात ये है कि कोलकाता की टीम जब भी फाइनल में पहुंची है, वह सीधे खिताब ही जीत जाती है। आईपीएल 2012 के फाइनल में कोलकाता ने चेन्नई सुपर किंग्स को पांच विकेट से मात दी थी। इसके बाद 2014 के फाइनल में उसने पंजाब को तीन विकेट से हराकर खिताब पर कब्जा किया था।