HPU Shimla: विवि के पात्र शोधार्थियों को सालाना मिलेगी 36-36 हजार की फेलोशिप

0
3

मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुसार हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एचपीयू) शोधार्थियों के लिए मुख्यमंत्री शोध प्रोत्साहन योजना लागू करेगा। इस योजना के तहत हर शोधार्थी को हर साल 36,000 रुपये की फेलोशिप तीन साल तक मिलेगी। विश्वविद्यालय कार्यकारिणी परिषद की बैठक में इस योजना को लेकर जारी सरकार की अधिसूचना को अपनाने का निर्णय ले लिया है।

एचपीयू में इस योजना के लागू होने से विवि के ऐसे सैकड़ों शोधार्थियों को लाभ मिलेगा जिन्हें कोई फेालोशिप नहीं मिलती है। वर्तमान में विश्वविद्यालय में करीब बारह सौ शोधार्थी पंजीकृत है, जो शोध कार्य कर रहे है। योजना के तहत पात्र शोधार्थियों को 3000 रुपये  प्रतिमाह और सालाना 36 हजार रुपये कीफेलोशिप मिलेगी। जो तीन सालों तक मिलेगी।  इससे शोधार्थियों को शोध कार्यों को पूरा करने में आर्थिक तंगी आड़े नहीं आएगी, वे शोध का खर्च इसी फेलोशिप से पूरा कर सकेंगे।

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय ने इस योजना को लागू करने की पहल कर दी है। जिसे अन्य राज्य विश्वविद्यालयों में लागू किया जाना भी तय है। एक अनुमान के अनुसार इन चारों विश्वविद्यालयों में वर्तमान में करीब दो हजार से अधिक शोधार्थी हैं, जो पीएचडी और एमफिल कर रहे हैं। इससे निश्चित तौर पर सरकार का करोड़ों का बजट प्रति वर्ष व्यय होगा, मगर इससे  विश्वविद्यालयों में किए जा रहे शोध कार्यों में गुणात्मक सुधार होगा और समय से शोध कार्य पूरे हो सकेंगे।

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की योजना को लागू करने से पूर्व विश्वविद्यालय को इसके लिए आवश्यक नियम बनाने होंगे। अभी तक यह साफ नहीं है कि प्रदेश सरकार की इस योजना के तहत आने वाले शोधार्थियों का चयन कैसे होगा। पात्रता क्या होगी।  विश्वविद्यालय की ईसी के फैसले के बाद अधिसूचना को जमीनी स्तर पर लागू करने से पूर्व योजना को लेकर नियम बनाने होंगे।