एचपीयू शिमला : एचपीयू इस सत्र से क्रेडिट के आधार पर देगा पीजी की डिग्री, अकादमिक काउंसिल की बैठक में लाया जाएगा प्रस्ताव

0
1

 हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एचपीयू) स्नातक (यूजी) के बाद अब स्नातकोत्तर (पीजी) की डिग्री भी अंकों के नहीं, बल्कि क्रेडिट के आधार पर देगा। शैक्षणिक सत्र 2022-23 से ही विश्वविद्यालय इस नई क्रेडिट प्रणाली को लागू करने जा रहा है। पीजी की दो साल की पढ़ाई में न्यूनतम सौ क्रेडिट लेने पर ही डिग्री मिलेगी। 19 जुलाई को होने वाली विश्वविद्यालय अकादमिक काउंसिल की बैठक में यह प्रस्ताव लाया जा रहा है। अकादमिक काउंसिल में तय होने के बाद कार्यकारिणी परिषद (ईसी) की बैठक में इसी माह प्रस्ताव को अंतिम मंजूरी दिलाने की तैयारी है। यह सिस्टम नई शिक्षा नीति को लागू करने का भी आधार बनेगा।

क्रेडिट बेस्ड सेमेस्टर सिस्टम के लिए विश्वविद्यालय ने तैयारियां भी पूरी कर ली हैं। विवि अभी च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम लागू नहीं कर रहा है। विश्वविद्यालय में वर्तमान में संचालित किए जा रहे सभी पीजी कोर्स में यह व्यवस्था लागू होनी है। सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी को भी यह सिस्टम लागू करना पड़ेगा। देश भर के अधिकतर विश्वविद्यालयों ने क्रेडिट सिस्टम लागू कर दिया है। एचपीयू में यूजी डिग्री कोर्स में 2013 में लागू रूसा (सीबीसीएस) सेमेस्टर सिस्टम में रही खामियों के चलते इसे अब तक पीजी कोर्स में लागू नहीं किया जा सका। यूजी में भी विश्वविद्यालय को फिर से ईयर सिस्टम लागू करना पड़ा था।