Home security system: आईटीआई सोलन के प्रशिक्षुओं ने खराब फोन से बना दिया होम सिक्योरिटी सिस्टम, दरवाजा खुलते ही बजेगी घंटी

0
2

फोन खराब होने पर उसे आमतौर पर फेंक दिया जाता है, लेकिन यह फोन खराब होने के बाद सीसीटीवी की तरह सुरक्षा का भी काम कर सकता है। ऐसा ही एक सिक्योरिटी सिस्टम बनाया है सोलन औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में इलेक्ट्रानिक का कोर्स कर रहे प्रशिक्षु छात्र आदित्य ने। उन्होंने पुराने की-पैड वाले खराब फोन का प्रयोग कर होम सिक्योरिटी सिस्टम बनाया है। घर का दरवाजा खुलते ही इस सिस्टम के जरिये घर के मालिक के मोबाइल पर खुद घंटी बज जाएगी। छात्र ने इस प्रोजेक्ट की प्रदर्शनी मां शूलिनी मेले में लगाई है। वह इस सिस्टम के बारे में लोगों को जानकारी दे रहे हैं। हालांकि, इस प्रोजेक्ट का ट्रायल चल रहा है। अगर यह ट्रायल सफल होता है तो इससे घर की सुरक्षा के लिए इसे प्रयोग में लाया जाएगा।

आदित्य ने बताया कि घरों में चोरी और अन्य चीजों को देखते हुए इस प्रकार का सिस्टम बनाने के बारे में सोची। जो तुरंत लोगों को अलर्ट करे और वारदात को अंजाम देने वाला गिरफ्त में आ सके। बताया कि इस सिस्टम को बनाने के लिए निष्क्रिय अवरक्त सेंसर (पीआईआर सेंसर) का प्रयोग भी किया गया है। होम सिक्योरिटी सिस्टम को घर के दरवाजे पर लगाया जाता है। जैसे ही इस सेंसर के छह मीटर के दायरे में कोई व्यक्ति आता है तो सेंसर तुरंत संकेत देगा। इससे तुरंत कॉल घर मालिक को चली जाएगी। की-पैड फोन में स्पीड डायल के जरिये यह प्रतिक्रिया होगी। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए सायरन, रिले, आईसी, कूलिंग फोन, ट्रांसफार्म और सांकेतिक बल्ब का प्रयोग भी किया गया है। छात्र ने करीब एक माह में यह प्रोजेक्ट तैयार किया है।

सेंसर से पता लग सकेगा आवाजाही का

इस प्रोजेक्ट के माध्यम से व्यक्ति के आने और जाने के बारे में पता लग सकेगा। व्यक्ति कितनी बार सेंसर के पास से निकला है, इस बारे में पता लग सकेगा। इसके लिए मेमोरी कार्ड सिस्टम में लगाया है, जिससे काफी मदद भी मिलेगी।