हिमाचल: सरकार डिपुओं में राशन के आवंटन की प्रक्रिया में बदलाव, आंखों को स्कैन कर मिलेगा राशन

हिमाचल सरकार डिपुओं में राशन के आवंटन की प्रक्रिया में बदलाव करने जा रही है। अब डिपुओं में पॉश मशीन में अंगूठा लगाकर राशन देने के बजाय आंखों को स्कैन कर राशन देने की तैयारी है। खाद्य नागरिक एवं उपभोक्ता मामले विभाग इसका प्रस्ताव तैयार कर रहा है। कोरोना संकट में सरकार ने पॉश मशीनों में अंगूठा लगाकर राशन देने पर रोक लगा रखी है। ऐसे में विभाग अभी राशन कार्ड स्कैन करने के बाद ही उपभोक्ताओं को राशन दे रहा है।
विभाग का मानना है कि इस प्रक्रिया से राशन आवंटन में गड़बड़ी की आशंका रहती है। इसी के चलते अब आंखों को स्कैन कर राशन देने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। इससे कोरोना काल में पॉश मशीन में अंगूठा लगाने का झंझट भी खत्म हो जाएगा और राशन आवंटन में पारदर्शिता भी बनी रहेगी। खाद्य नागरिक एवं उपभोक्ता मामले विभाग मंत्री राजेंद्र गर्ग ने बताया कि आंखों को स्कैन करके राशन देने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है।
हिमाचल में हैं साढ़े 18 लाख राशनकार्ड उपभोक्ता
हिमाचल में साढ़े 18 लाख राशनकार्ड उपभोक्ता हैं। सरकार की ओर से लोगों को आटा, चावल, 3 दालें, 2 लीटर तेल, नमक और चीनी दी जा रही है।
अधिकारियों की ही चुकी बैठक 
प्रदेश में आंखों को स्कैन करके राशन देने को लेकर अधिकारियों की बैठक हो चुकी है। सरकार की ओर से इस प्रक्रिया को जल्द लागू करने की बात कही गई है।