ENG vs IND: भारत की करारी हार पर विराट का बड़ा बयान, बोले- इस चीज का था दबाव

लीड्स के हेंडिग्ले में खेले गए तीसरे टेस्ट में भारत को करारी हार का सामना करना पड़ा। मेजबान इंग्लैंड ने टीम इंडिया को पारी और 76 रनों से शिकस्त दी। इसी के साथ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज 1-1 से बराबर हो गई। मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया की पहली पारी महज 78 रन पर ही सिमट गई। इसके जवाब में इंग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 432 रन बनाए। इस तरह पहली पारी के आधार पर मेजबान टीम को 354 रन की बढ़त मिली। वहीं, भारत की दूसरी पारी में इंग्लैंड के गेंदबाजों के आगे भारतीय बल्लेबाज घुटने टेकते नजर आए। पूरी टीम 278 रन पर ऑलआउट हो गई। इंग्लैंड की तरफ से दूसरी पारी में ओली रॉबिन्सन ने 65 रन देकर सर्वाधिक पांच विकेट लिए। बता दें कि भारतीय टीम की यह इस साल की सबसे बड़ी हार है। इस मैच से पहले इंग्लैंड ने इसी साल फरवरी में चेन्नई में भारत को 227 रन से हराया था। वहीं, विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड ने भारत को आठ विकेट से हराया था। लीड्स में मिली करारी हार के बाद भारतीय कप्तान ने क्या कहा?
मैच के बाद विराट कोहली ने कहा, ‘स्कोरबोर्ड का दबाव था। पहली पारी में जब टीम 78 रन पर ऑलआउट हो गई तब ही मैच हाथ से निकल गया था। मेजबान टीम ने अपनी पहली पारी में 432 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। वहीं, खेल के तीसरे दिन दूसरी पारी में हमने अच्छी शुरुआत की थी लेकिन इंग्लैंड के गेंदबाजों ने हमें कुछ गलतियां करने पर मजबूर किया। सच कहूं तो मेजबान टीम जीत की हकदार थी।’

वहीं, विराट ने टॉस को लेकर कहा, ‘ऐसा नहीं है, पिच पहले बल्लेबाजी करने के लिहाज से अच्छी थी। वहीं, जब इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने इसी पिच पर बल्लेबाजी की तो उन्होंने अच्छे रन बनाए। मगर हमारी गेंदबाजी अच्छी नहीं हुई। ऐसा नहीं है कि हमारे पास बल्लेबाजी में गहराई नहीं है। टॉप ऑर्डर से रन बनने के बाद मिडिल ऑर्डर को थोड़ा सेटअप मिलता है। वहीं, विराट ने आगे कहा कि हर बार निचले ऑर्डर के खिलाड़ी अच्छा नहीं कर सकते। हमने पिछले दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया है।’

भारतीय कप्तान ने आगे कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम महज 36 रन पर ऑलआउट हो गई थी लेकिन फिर टीम ने वापसी की और सीरीज भी जीती। वहीं, ओवल में टीम चयन को लेकर पूछे जाने पर विराट ने कहा कि पिच पर निर्भर करता है, सतह का आकलन, कितनी नमी है, उसी के आधार पर हम इस पर फैसला करेंगे। कुछ चीजें हैं, जिन्हें हमें सुधारने की जरूरत है।’