Commonwealth Games: निशानेबाजी को बाहर करने पर विजय नाराज, बोले- भारत ला सकता था इस बार कई मेडल

0
2

राष्ट्रमंडल खेलों में वर्ष 2006 और 2010 में शूटिंग में छह पदक जीतने वाले शूटर विजय इस बार निशानेबाजी को खेलों में शामिल नहीं करने से नाराज हैं। विजय कुमार का कहना है कि शूटिंग में इस बार देश के लिए कई पदक आ सकते थे। देश में काफी अच्छे शूटर हैं। राष्ट्रमंडल खेलों से शूटिंग को हटाना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इसके लिए अंतरराष्ट्रीय खेल कमेटी से बात करनी चाहिए। शूटिंग खेल पहले से ही राष्ट्रमंडल खेलों का हिस्सा रहा है। अमर उजाला से बातचीत में उन्होंने बताया कि उन्होंने 2006 शूटिंग में दो गोल्ड मेडल देश के लिए जीते थे। साथ ही 2010 में इन्हीं खेलों में चार मेडल जीते। इस बार भी उनकी तैयारी भरपूर है, मगर शूटिंग को बाहर कर दिया गया है। कहा कि देश में 30 से 35 शूटर हैं जो पदक लाने की काबलियत रखते हैं।

हिमाचल में शूटिंग के लिए सुविधा नहीं
विजय ने कहा कि हिमाचल में शूटिंग रेंज तक नहीं बन पाई है। यहां से खेल मंत्री अनुराग ठाकुर हैं। अगर वह चाहें तो हिमाचल में शूटिंग के साथ-साथ अन्य खेलों को भी काफी बढ़ावा मिल सकता है। सरकार को चाहिए कि वह खेलों को बढ़ावा देने के लिए मल्टीपर्पज स्टेडियम बनाएं। शूटर विजय हिमाचल पुलिस में डीएसपी पद पर तैनात हैं। वह बिलासपुर जिले के बस्सी में सेवाएं दे रहे हैं।