बाघ बाइक के पीछे बैठे युवक को घसीटकर जंगल की ओर ले गया

0
1

रामनगर: अल्मोड़ा से वापस लौट रहे बाइक पर सवार दो युवकों पर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बाघ ने हमला कर दिया। बाघ बाइक के पीछे बैठे युवक को घसीटकर जंगल की ओर ले गया। सूचना पर कॉर्बेट टाइगर रिजर्व पार्क, रामनगर वन प्रभाग, पुलिस और प्रशासनिक अमले ने जंगल में ले जाए युवक की तलाश के लिए सर्च अभियान शुरू कर दिया है। रात के अंधेरे में चल रहे सर्च अभियान के दौरान युवक का देर रात तक कुछ पता नहीं चल पाया था।

जानकारी के अनुसार अमरोहा जिले के थाना नगली तहसील हसनपुर निवासी मो. अनस पुत्र शमीम अहमद अपने दोस्त अफसरुल पुत्र भूरा के साथ अल्मोड़ा घूमने गए हुए थे। शनिवार शाम यह दोनों युवक अल्मोड़ा से वाया रामनगर वापस अपने घर अमरोहा जा रहे थे। रात करीब साढ़े आठ बजे यह लोग अल्मोड़ा जिले की सीमा पार कर नैनीताल जिले में दाखिल हुए। मोहान इंटर कॉलेज के निकट कालागढ़ टाइगर रिजर्व के मंदाल रेंज और रामनगर वन प्रभाग के कोसी रेंज के बीच गुजरने वाले इस हाइवे पर गुजरते हुए इन युवकों की बाइक पर बाघ ने हमला कर दिया।

बाघ के हमले के दौरान बाइक मो. अनस चला रहा था। अफसरुल बाइक के पीछे बैठा था। इससे पहले की बाइक सवार युवक कुछ समझ पाता बाघ बाइक के पीछे बैठे अफसरुल को अपने जबड़े में दबाकर कोसी नदी की ओर चला गया। इस दौरान बाइक चला रहा अनस चीखता चिल्लाता रह गया।
चलती बाइक से बाघ के युवक को उठाकर जंगल में ले जाने की घटना से वन महकमे में खलबली मच गई। आनन-फानन कॉर्बेट टाइगर रिजर्व पार्क और रामनगर वन प्रभाग के साथ ही पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई। खबर लिखे जाने तक प्रशासन की टीमों ने युवक की तलाश में रेस्क्यू अभियान चला रखा था। अंधेरे के कारण रेस्क्यू में प्रशासन को कोई सफलता नहीं मिल पाई थी। कॉर्बेट पार्क के उप निदेशक नीरज कुमार ने बताया की नौ जुलाई को कॉर्बेट की टीम ने एक हिंसक बाघिन को पकड़ा था। उस समय बाघिन के बच्चे भी वहां मौजूद थे। उन्होंने आशंका जताई कि बाघिन के बच्चों ने यह हमला किया हो।