सिविल अस्पताल सराहां का दर्जा बढ़ा कर 100 बेड का करने की मुख्यमंत्री की घोषणा के 10 माह बाद भी अस्पताल की हालत जस की तस

0
1

सराहां: सिविल अस्पताल सराहां का दर्जा बढ़ा कर 100 बेड का करने की मुख्यमंत्री की घोषणा के 10 माह बाद भी अस्पताल की हालत जस की तस । 100 बेड के लिये आवश्यक स्टाफ के पद सृजनित करने के लिये अभी तक कोई भी करवाई अमल में नही लाई गई।

हिमाचल प्रदेश की भाजपा सरकार पूरे प्रदेश में एक समान विकास के दावे कर रहे हैं। यह दावे जिला सिरमौर में खोखले साबित हो रहे हैं। क्योंकि 10 माह पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के सराहां में 3 सितंबर 2021 को जनसभा में सिविल अस्पताल सराहां को 100 बेड का करने, उसके अनुसार चिकित्सकों व स्टाफ के पद भरने की घोषणा की थी। मगर 10 माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी यह घोषणा मात्र घोषणा रह गई है। इसके बाद जिला सिरमौर के नाहन, पांवटा साहिब, राजगढ़, शिलाई व श्रीरेणुकाजी में जो घोषणाएं मुख्यमंत्री द्वारा की गई थी। वह कैबिनेट से मंजूर होकर उनकी अधिसूचना भी जारी हो गई है। मगर पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के सराहां उपमंडल की भाजपा द्वारा लगातार अनदेखी की जा रही है। बता दें कि पच्छाद उपमंडल की 34 पंचायतों के अतिरिक्त उपमंडल राजगढ़ , नाहन विधानसभा क्षेत्र , श्रीरेणुकाजी विधानसभा क्षेत्र ,पड़ोसी जिला सोलन के सीमावर्ती इलाके तथा पड़ोसी राज्य हरियाणा के मोरनी विकास खंड के लोग सिविल अस्पताल सराहां में इलाज के लिए आते हैं। सिविल अस्पताल सराहां में औसतन 150 से 200 लोग हर रोज इलाज के लिए आते हैं। मगर यहां पर चिकित्सकों व स्टाफ की भारी कमी के चलते लोगों को दूसरे अस्पतालों का रुख करना पड़ता है।

कई बार आलम यह रहता है कि सिविल अस्पताल में एक बेड पर दो दो मरीज दाखिल करने पड़ते हैं। यही नही यहां पर पानी की भी अक्सर किल्लत रहती है जिसके चलते मरीजों व तीमारदारों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों को उम्मीद थी कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा की गई घोषणा जल्द परवान चढ़ेगी। मगर 10 माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी यह घोषणा मात्र कोरी ही साबित हुई है। इस घोषणा को पूरा करने के लिए 7 अप्रैल 2022 को कैबिनेट में प्रस्ताव रखा गया था, मगर उसमें केवल अस्पताल को ही सो बैड करने का प्रस्ताव था। जबकि वहां पर डॉक्टरों व अन्य स्टाफ के पद सृजित करने की कोई भी प्रस्ताव कैबिनेट में नहीं आया। जिसके चलते लोगों के में भारी रोष व्याप्त रहा। लेकिन बावजूद इसके अभी तक स्टाफ और चिकित्सकों के पद सृजित होने का मामला दोबारा से कैबिनेट में नही ले जाया गया । जिसके चलते लोगों में अब भाजपा के प्रति रोष बढ़ता जा रहा है। इस संदर्भ में पच्छाद विधानसभा क्षेत्र की विधायक रीना कश्यप ने कहा कि वह जल्द ही मुख्यमंत्री से मिलकर सिविल अस्पताल सराहां को 100 बेड करवाने उसके अनुसार चिकित्सकों तथा स्टाफ के पद सृजित करवाने का आग्रह करेंगे। ताकि क्षेत्र के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिल सके।