भुरेश्वर महादेव के मंदिर तक पहुंचना अब और भी सुविधाजनक

0
4

सराहां के समीप कवाग धार की पहाड़ियों पर स्थित भुरेश्वर महादेव के मंदिर तक पहुंचना अब और भी सुविधाजनक हो गया है।नाहन कुमारहट्टी नेशनल हाईवे पर स्थित पानवा बस स्टॉप से भुरेश्वर महादेव तक का रोड जिसकी दूरी 2 किलोमीटर के लगभग है का पक्का होने का कार्य लगभग पूरा हो रहा है।इस रोड के पक्का होने से श्रद्धालुओं को अपने वाहन ले जाने में काफी सुविधा रहेगी।वही पर्यटन की दृष्टि से भी इस धार्मिक स्थान की कायाकल्प जल्द होने वाली है।इस स्थान को धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिये पर्यटन विभाग द्वारा 34 लाख रुपये के लगभग राशि जारी कर दी गई है जिससे जल्द कार्य शरू होंने की उम्मीद है।

भुरेश्वर महादेव मंदिर कमेटी के अध्यक्ष मदन मोहन अत्रि ने बताया कि भविष्य में नेशनल हाईवे पर मंदिर आने के लिये जहाँ से लिंक रोड शुरू होता है वहां एक भव्य गेट बनाया जाएगा ताकि हाईवे पर आने जाने वाले लोगो को अधिक से अधिक संख्या में इस स्थान की जानकारी प्राप्त हो सके।गौरतलब है कि भुरेश्वर महादेव में स्थित शिवलिंग एक स्वयंभू शिवलिंग है जिसका सम्बन्ध केदारनाथ जी से भी माना जाता है।

गुप्त शाबरी मन्त्रों द्वारा यहाँ पर पूजा अर्चना की जाती है।यहां का दृश्य बहुत ही विहंगम है।यहाँ से एक और जहाँ मैदानी इलाकों का नजारा देखने को मिलता है वही दूसरी और चूड़धार के पहाड़ों सहित लम्बी पर्वत शृंखला दिखाई देती है।बरसात के इन दिनों में चारो और धुंध से यह इलाका घिरा हुआ रहता है।जिसका अपना ही एक रोमांच है।वैसे तो यहाँ वर्ष भर पूजा अर्चना होती रहती है परंतु देव शयनी एकादशी व देव प्रबोधिनी एकादशी जिसे देव ग्यास पर्व के नाम से भी जाना जाता है पर यहाँ विशेष रूप से पूजा अर्चना व दैविक क्रियाएं की जाती है