हक के लिए जिला परिषद कैडर कर्मचारी-अधिकारी हड़ताल पर

0
2

विकास खंड संगड़ाह के जिला परिषद कर्मचारी अधिकारी महासंघ की कलम मे छोड़ो हड़ताल बुधवार को पांचवे दिन प्रवेश कर गई । महासंघ की एक ही मांग है कि जिला परिषद कर्मचारियों अधिकारियों को पंचायती राज ग्रामीण विकास विभाग में समायोजित किया जाए । महासंघ की विकास खंड संगड़ाह इकाई के अध्यक्ष अनिल कुमार, जिला सिरमौर महासचिव सतपाल व अन्य पदाधिकारियों ने जारी बयान मे कहा कि, पिछले करीब दो दशक से प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में ग्रामीण विकास व पंचायती राज विभाग का काम कर रहे जिला परिषद कैडर कर्मचारी हालांकि, नियमित हो चुके है, मगर इन्हे विभाग अथवा सरकारी कर्मचारी  का दर्जा व कुछ वित्तिय लाभ नही मिल रहे हैं।  हड़ताली कर्मचारियों ने एलान किया है कि महासंघ की हड़ताल तब तक जारी रहेगी जब तक जिला परिषद के कर्मचारियों अधिकारियों को पंचायती राज ग्रामीण विकास विभाग में विलय नहीं किया जाता है।

जिला परिषद कैडर में चतुर्थ श्रेणी से लेकर उच्च श्रेणी के सभी कर्मचारी और अधिकारी शामिल है। जब तक सरकार मांग नहीं मानती, तब तक कलम छोड़ो हड़ताल जारी रहेगी।  कर्मचारियों और अधिकारियों के हड़ताल पर जाने से पंचायतों में कामकाज लटक गया है। इसके कारण जनता को परेशानियों का सामना करना पड़ा। इन हड़ताली कर्मचारियों ने सरकार से आग्रह किया है कि जल्द से जल्द इस वर्ग के कर्मचारियों के हित में निर्णय लिया जाए ताकि इस वर्ग के कर्मचारियों को राहत मिल सके।

 पंचायती राज एवं ग्रामीण विभाग के कर्मचारी सचिव तकनीकी सहायक कनिष्ठ अभियंता व सहायक अभियंता मांगों के समर्थन में उतरे प्रधानों तथा उप प्रधानों के अंतर्गत आने वाले पंचायत प्रधानों ने कहां है कि की उनकीमांग उचित है और सरकार को शीघ्र पर निर्णय करना होगा प्रधानों ने कहा कि इन कर्मचारियों की पेन डाउन स्ट्राइक से पंचायतों के काम रुक गए हैं पिछले 4 दिनों से इनकी हड़ताल के कारण पंचायतों में काम प्रभावित होने लगे हैं और यदि यह हड़ताल लंबी चली तो विकास कार्य ठप हो जाएंगे और नुकसान सरकार को होगा। कई जनप्रतिनिधि समर्थन में उतरे हैं।