सुप्रीम कोर्ट पहुंची अग्निपथ की आंच, बिहार के 15 जिलों में 19 जून तक इंटरनेट बंद

अग्निपथ स्कीम का विरोध अब सुप्रीम कोर्ट की चौखट पर पहुंच गया है। सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर सेना में भर्ती की इस योजना की एक्सपर्ट कमेटी का गठन कर समीक्षा कराने की मांग की गई है। उच्चतम न्यायालय में अधिवक्ता विशाल तिवारी द्वारा दायर अर्जी में कहा गया है कि इस कमेटी का चेयरमैन सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस को बनाया जाना चाहिए। कमेटी की ओर से यह समीक्षा होनी चाहिए कि यह भर्ती स्कीम सेना और देश की सुरक्षा पर क्या असर डालेगी। इसके बाद ही इसे लागू करने पर विचार किया जाना चाहिए। यही नहीं, इस अर्जी में स्कीम के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों की भी एसआईटी जांच की मांग की गई है। अर्जी में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट एसआईटी के गठन का आदेश जारी करे। उधर, अग्रिपथ के खिलाफ शनिवार को भी विरोध प्रदर्शन जारी रहे। बिहार की राजधानी पटना समेत प्रदेश में छह जगहों पर पुलिस पर प्रदर्शनकारियों ने हमला किया। कुछ जगह पुलिस और प्रदर्शनकारियों में फायरिंग भी हुई। उग्र प्रदर्शन को देखते हुए रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है कि अब बिहार में पूर्व मध्य रेल क्षेत्राधिकार से गुजरने वाली ट्रेनें 20 जून तक रात आठ बजे से सुबह चार बजे तक ही चलेंगी। बिहार में उपद्रव के आरोप में तीन आर्मी कोचिंग संचालकों पर एफआईआर दर्ज की गई है। अब तक 70 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

बिहार के 15 जिलों में 19 जून तक इंटरनेट बंद कर दिया गया है। प्रदर्शन को देखते हुए प्राइवेट स्कूलों ने भी शनिवार को छुट्टी रखी। इसी बीच, बिहार भाजपा के 10 नेताओं की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इनमें कई विधायक और सांसद भी हैं। इन सभी को वाई श्रेणी की सुरक्षा देने का फैसला किया गया है। यूपी में बवाल जारी है। जौनपुर में उपद्रवियों ने दो रोडवेज बसें और कई बाइक जला दीं। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया, तो उनकी गाड़ी के शीशे भी तोड़ डाले। सिकरारा और बदलापुर क्षेत्र में एक-एक बस में आग लगाई गई है। वाराणसी-लखनऊ हाई-वे पर उपद्रवियों ने 10 से ज्यादा गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ की है। राजस्थान में भी कई जिलों में युवा बड़ी संख्या में प्रदर्शन करते दिखे। इस दौरान प्रदर्शनकारियों की पुलिस से भी झड़प हो गई। प्रदेश के जयपुर, जोधपुर, अजमेर, अलवर सहित छह जिलों में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं।

अग्निपथ योजना के विरोध की आंच पंजाब में भी पहुंच गई है। शनिवार को लुधियाना में युवकों ने रेलवे स्टेशन पर पहुंचकर जमकर तोडफ़ोड़ की। युवक डंडे और लोहे की रॉड लेकर पहुंचे थे। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए चार युवकों को गिरफ्तार किया है। पीएम मोदी के गृहराज्य गुजरात में भी शनिवार को विरोध प्रदर्शन हुए। जामनगर में सुबह हजारों की संख्या में छात्र जमा हो गए और नारेबाजी करने लगे। मौके पर पहुंचे पुलिस बल ने बमुश्किल हालात पर काबू पाया। जम्मू-कश्मीर के कठुआ में शनिवार सुबह युवकों ने अग्निवीर योजना का विरोध किया। पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे युवकों पर लाठीचार्ज किया।