रामपुर: गाडिय़ोंं पर पहाड़ से गिरे पत्थर , वाहन क्षतिग्रस्त

 गुरुवार मध्य रात्रि से शुरू हुई बारिश ने पूरे क्षेत्र को हिला कर रख दिया। जोरदार बारिश के साथ बिजली की गर्जना ने सभी को भयभीत कर दिया। आलम ये हुआ कि लोग कड़कती बिजली की आवाज से डर के मारे सुबह तक नहीं सो पाए। शुक्रवार सुबह पूरा एनएच-5 पत्थर व मिट्टी से अटा हुआ था। सड़क ने कई जगहों पर नाले का रूप ले लिया था। रामपुर से नोगली की तरफ पांच किलोमीटर के दायरे में जगह-जगह पर भू-स्खलन ने ट्रैफिक को घंटों बाधित रखा। मुख्य रामपुर में बरसात का ये रूप काफी डरावना था। रामपुर से डकोलढ़ तक दर्जनों गाडिय़ोंं पर पहाड़ से पत्थर गिर गए, जिससे वाहन क्षतिग्रस्त हो गए।

खोपड़ी के समीप एक गाड़ी पर भारी भरकम पत्थर गिर गया। वहीं, बीएसएनएल कार्यालय से रामपुर की तरफ भी काफी गाडिय़ां क्षतिग्रस्त हुई। बारिश ने इस ग्रामीण रूटों को भी प्रभावित कर दिया। परिवहन डिपो की चार बसें अलग-अलग जगह पर फंसी रही। दोपहर बाद तीन जगह से बसों को निकाल दिया गया, जबकि एक बस अभी भी क्याव में फंसी हुई है। रोहडू वाया तकलेच सड़क अभी भी बंद है। साथ ही दरकाली के लिए भी यातायात बाधित है, जिस तरह भारी बारिश हुई उससे रामपुर से नोगली तक की सड़क मिट्टी व पत्थर से लबालब भर गई है। सड़क को ठीक करने में एनएच विभाग को खासा पसीना बहाना पड़ेगा। रामपुर परिवहन डिपो के अड्डा प्रभारी भाग चंग ने बताया कि रामपुर में दो सड़कें भारी बारिश के कारण बाधित है। बरसात से एनएच-5 में जगह जगह भू-स्खलन हुआ है