मणिमहेश यात्रा: छड़ी के साथ जाएंगे सिर्फ 25 भक्त

उत्तर भारत की प्रसिद्ध मणिमहेश यात्रा में परंपरा का निर्वाहन करने आएगी छडिय़ों के साथ यात्रियों को एक सीमित संख्या में आने की अनुमति होगी। मणिमहेश न्यास में हरेक छड़ी के साथ महज 25 लोगों को ही डल झील की ओर जाने की अनुमति देने का फैसला लिया है। साथ ही पड़ोसी राज्य जम्मू-कश्मीर की छडिय़ों के साथ आने वालों को आरटीपीसीआर की नेगटिव रिपोर्ट और वैक्सीन की दोनों डोज अनिवार्य की है। कोविड की नेगटिव रिपोर्ट न होने की सूरत में यात्री को जाने की अनुमति नहीं होगी। खबर की पुष्टि एडीएम भरमौर एवं मणिमहेश न्यास के अध्यक्ष डा. संजय कुमार धीमान ने की है। उल्लेखनीय है कि पवित्र मणिमहेश यात्रा का आयोजन इस वर्ष 30 अगस्त से 12 सिंतबर तक चलेगा।

इस दौरान यात्रियों को मणिमहेश जाने की अनुमति नहीं होगी। इस व्यवस्था को बनाए रखने के लिए हड़़सर रोड पर प्रंघाला में पुलिस की चैकपोस्ट बनाई है। न्यास ने स्पष्ट किया है कि छडिय़ों और शिव चेलों के अलावा किसी को भी मणिमहेश जाने की अनुमति नहीं होगी। अगर कोई यात्री भरमौर तक पहुंच भी जाता है, तो उसे बीच रास्ते से लौटा दिया जाएगा। एडीएम भरमौर डा. संजय कुमार धीमान ने बताया कि प्रत्येक छड़ी के साथ 25 लोगों को ही डल की ओर जाने की अनुमति होगी। इसके अलावा डल की ओर छड़ी के साथ जाने वाले यात्रियों को 72 घंटे पहले की आरटीपीसीआर की रिपोर्ट पेश करनी होगी।