मंडी-शिमला में बारिश का कहर, कांगड़ा में पूर्व फौजी और हमीरपुर में एनआईटी स्टूडेंट डूबा

शिमला: हिमाचल प्रदेश में मौसम (Weather in Himachal) अब भी खराब बना हुआ है. मॉनसून (Monsoon) की सक्रियता के चलते प्रदेश भर में जमकर बारिश हो रही है. गुरुवार को भी प्रदेश के कई इलाकों में बादल (Clouds) छाए हुए हैं. हालांकि, बुधवार को मंडी सहित कई जिलों में तेज धूप खिली. लेकिन दोपबर बाद मौसम ने करवट ली और मंडी के अलावा, शिमला में भी करीब एक घंटे तक बारिश हुई.

वहीं, येलो अलर्ट के बीच बुधवार को कालका-शिमला नेशनल हाईवे पर कंडाघाट के समीप पहाड़ी दरकने से करीब दो घंटे तक ट्रैफिक जाम रहा. फोरलेन निर्माता कंपनी की ओर से मलबा हटाकर सड़क को वन वे कर चलाया गया. प्रदेश में 27 जुलाई तक मौसम खराब रहेगा.

कांगड़ा में पूर्व फौजी और हमीरपुर में एनआईटी स्टूडेंट डूबा
हिमाचल के कांगड़ा जिले में पुलिस थाना धर्मशाला के अंतर्गत ससुराल आए रिटायर्ड फौजी की मांझी खड्ड में बहने से मौत हो गई. पुलिस ने शीला चौक से नीचे भटेहड़ समीप मांझी खड्ड में शव बरामद किया. मृतक मनोज कुमार (44) खनियारा के ठेहड़ गांव का रहने वाला था और परिवार समेत अपने ससुराल चाय उद्योग दाड़ी आया था. बुधवार दोपहर मांझी खड्ड की तरफ टहलने गया था, जहां अचानक उसका पैर फिसला और वह पानी में गिर गया. हालांकि, यह भी कहा जा रहा है कि फौजी ने खड्ड में छलांग  लगाई थी. पुलिस जांच में ही पूरा पता चल पाएगा.

दोस्तों संग नहाने गया था अमन

हमीरपुर में एनआईटी के स्टूडेंट 26 वर्षीय युवक की कुनाह खड्ड में डूबने से मौत हो गई. मृतक की पहचान अमन भरमेरा निवासी वार्ड नंबर आठ, नया नगर हमीरपुर के रूप में हुई है. वह बुधवार को अपने तीन अन्य साथियों के साथ गांव हार के समीप कुनाह खड्ड में नहाने गया था. लेकिन नहाते समय वह गहरे पानी में फंस गया और इससे उसकी मौत हो गई. दो अन्य साथियों में एक ताया और दूसरा मामा का लड़का शामिल था. दोनों ने कड़ी मशक्कत के बाद अमन को गहरे पानी से बाहर निकाला और उपचार के लिए हमीरपुर मेडिकल कॉलेज ले आए. लेकिन चिकित्सकों ने युवक को मृत घोषित कर दिया. बता दें कि बीते दिनों से हो रही भारी बारिश से प्रदेश में अभी भी 146 सड़कें बंद पड़ी हैं, जबकि 46 पेयजल योजनाएं ठप हैं.

किन्नौर में बाढ़, सेब बागवानों को हुआ नुकसान
किन्नौर जिले के बटसेरी गांव के नजदीक खरोगला नाले में सुबह पानी का जल स्तर बढ़ने से कई बागवानों के सेब बगीचों को नुकसान पहुंचा. मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने गुरुवार को भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है. 27 जुलाई तक प्रदेश में मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान है. कांगड़ा और मंडी जिले के कुछ क्षेत्रों में गुरुवार सुबह 11:30 बजे तक बाढ़ आने की चेतावनी जारी की गई है. कुल्लू के बंजार की मंगलौर पंचायत में बारिश के दौरान सड़क का मलबा गांव में घुस गया और एक गोशाला व तीन शौचालयों को नुकसान पहुंचा है. चंबा जिला में मूसलाधार बारिश के तीसरे दिन बाद भी व्यवस्थाएं पटरी पर नहीं लौटी हैं. बारिश के चलते तापमान में गिरावट आई है और केलांग में सात डिग्री पारा गिरा है. मंडी के सुंदरनगर में सबसे अधिक 28.6 डिग्री पारा दर्ज हुआ है और सूबे के सबसे गर्म जिले ऊना में पारा 25 डिग्री के करीब रिकॉर्ड हुआ है.