हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह पचतत्व में विलीन

शिमला:  हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह पचतत्व में विलीन हो गए हैं. शिमला जिले के रामपुर बुशहर में उनके पैतृक नगर में उनका अंतिम संस्कार किया गया. उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह ने करीब साढ़े चार बजे करीब उनकी पार्थिव देह को मुखाग्नि दी और इस तरह वीरभद्र सिंह अनंत की यात्रा पर निकल गया. इससे पहले करीब पौने तीन बजे उनके शव को पदम पैलेसे से जौगणी बाग के श्मशानघाट लाया गया. पिता के शव को विक्रमादित्य सिंह ने खुद कंधा दिया. पूरे रास्ते में लोग मकान की छतों से उन्हें पुष्पवर्षा करते देखे गए. भावुक लोगों ने नम आंखों से अपने प्रिय नेता को अंतिम बार देखा और अश्रुपूर्ण विदाई दी. श्मशाघाट में हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर समेत कई नेता मौजूद रहे.

खास बमान में हुए विदा

वीरभद्र सिंह के शव पर तिरंगा लगाया गया था. एक खास तरह के ‘बमान’ में उनका शव पदम पैलेस से श्मशामघाट लाया गया. शेरों के 12 मुखी इस ‘बमान’ को बनाने में कारीगरों को दो दिन का वक्त लगा. वीरभद्र सिंह का जोगणी श्मशानघाट में अंतिम संस्कार किया गया. यह केवल शाही खानदान के लिए बनाया गया श्मशानघाट है. आम लोगों के लिए रामपुर में अलग श्मशानघाट है. यहां पर वीरभद्र सिंह के पुर्वूजों का भी अंतिम संस्कार किया गया है. वीरभद्र सिंह की माता-पिता और रानियों के स्मारक भी यहां बनाए गए हैं.

खास तरह के ‘बमान’ में उनका शव पदम पैलेस से श्मशामघाट लाया गया. शेरों के 12 मुखी इस ‘बमान’ को बनाने में कारीगरों को दो दिन का वक्त लगा.

कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

शनिवार को छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश समेत कांग्रेस के कई नेता रामपुर पहुंचे और पूर्व सीएम को अंतिम श्रद्धांजलि भेंट की. पंजाब के पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर बादल ने भी पदम पैलेस में उनके अंतिम दर्शन किए. बता दें कि हिमाचल में वीरभद्र सिंह से निधन पर 10 जुलाई तक राजकीय शोक घोषित किया गया है.

रामपुर में वीरभद्र सिंह का अंतिम संस्कार किया गया है.

राहुल भी पहुंचे थे शिमला

इससे पहले, शुक्रवार को रिज मैदान पर वीरभद्र सिंह का शव लोगों के लिए अंतिम दर्शनों को लेकर रखा गया. यहां बड़ी संख्या में लोगों ने उन्हें पुष्प अर्पित किए. जेपी नड्डा ने उन्हें श्रद्धांजलि दी. बाद में कांग्रेस मुख्यालय में राहुल गांधी ने भी दिग्गज नेता को ट्रिब्यूट दिया. शिमला से लेकर रामपुर तक लोगों ने वीरभद्र सिंह की पार्थिव देह पर फूल बरसाए और अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की