खुद तब तक कोई चुनाव नहीं लडूंगी जब तक कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा बहाल नहीं हो जाता: महबूबा मुफ्ती

नई दिल्ली:  पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सर्वदलीय बैठक के बाद जम्मू कश्मीर में राजनीति हलचल तेज हो गई है. घाटी में मौजूदा राजनीतिक हलचल को लेकर शुक्रवार को पीडीपी (PDP) की बैठक हुई. उम्मीद जताई जा रही थी कि इस बैठक में पार्टी चुनाव लड़ने को लेकर फैसला ले सकती है. लेकिन अब पीडीपी ने कहा है कि चुनाव को लेकर चर्चा जरूर हुई लेकिन चुनाव में भाग लेने के लेकर कोई आखिरी फैसला नहीं लिया गया. बता दें कि 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर दिया गया था. लेकिन वहां फिर से चुनाव कराने को लेकर पीएम मोदी पहल की है.

पीडीपी की बैठक के बाद पार्टी प्रवक्ता सुहैल बुखारी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री के साथ सर्वदलीय बैठक के बाद महबूबा मुफ्ती जी ने आज जम्मू-कश्मीर के राजनीतिक हालात पर बैठक की. पार्टी चुनाव में भाग लेगी या नहीं, इस पर चर्चा तब होगी जब हम उस स्तर पर पहुंच जाएंगे.’

बता दें कि पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि वो खुद तब तक कोई चुनाव नहीं लड़ेंगी जब तक कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा बहाल नहीं हो जाता. उन्होंने साथ ही कहा कि केंद्रीय नेतृत्व को ये सुनिश्चित करने पर ध्यान देना चाहिए कि पूर्ववर्ती राज्य के लोगों के साथ ‘दिल की दूरी’ खत्म हो.’

हालांकि, जम्मू-कश्मीर के लिए आगे की राह पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने वाले 14 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहीं महबूबा ने इस बात पर जोर दिया कि विश्वास बहाली के कई उपाय करने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘मैंने कई बार स्पष्ट किया है कि मैं केंद्र शासित प्रदेश के तहत कोई चुनाव नहीं लड़ूंगी, लेकिन साथ ही मेरी पार्टी इस तथ्य से भी अवगत है कि हम किसी को राजनीतिक स्थान नहीं लेने देंगे. हमने पिछले साल जिला विकास परिषद का चुनाव लड़ा था.’ (एजेंसी इनपुट के साथ)