जम्मू: 24 घंटे में दूसरी घटना, अलर्ट पर सभी सैन्य कैंप

जम्मू के कुंजवानी-रत्नूचक में सोमवार रात एक बार फिर ड्रोन देखे जाने की सूचना है। यह लगातार तीसरी बार और 24 घंटे में दूसरी बार है जब यहां ड्रोन देखा गया है। सोमवार को कालूचक मिलिट्री स्टेशन के पास ड्रोन दिखा था। जिसके बाद कुंजवानी-रत्नूचक में रात करीब तीन बजे ड्रोन दिखने की खबर है। सूत्रों के मुताबिक ड्रोन काफी ऊंचाई पर उड़ रहा था और उसमें सफेद लाइट जल रही थी। उधर, गृह मंत्रालय ने जम्मू वायु सेना स्टेशन हमले का मामला राष्ट्रीय जांच एजेंसी को सौंप दिया है।

ड्रोन हमलों के चलते सैन्य प्रतिष्ठानों में एंटी ड्रोन गन सहित कमांडो तैनात किए गए हैं। खतरे को देखते हुए किसी भी जगह ड्रोन उड़ता देख जवाबी कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं। इसके अलावा सभी सेना मुख्यालयों, यूनिटों, कैंपों में जवानों को अलर्ट किया गया है।

वायुसेना स्टेशन में भी एंटी ड्रोन गन वाले एनएसजी कमांडो तैनात किए गए हैं। हालांकि, सेना के प्रवक्ता ने कहा कि इसके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है, लेकिन सभी कैंप अलर्ट पर जरूर रखे गए हैं। दो दिन से लगातार दो ड्रोन वारदातों से सुरक्षा को खतरा तो है ही और यह एक बड़ी चुनौती भी है। लिहाजा सेना पूरी तरह से अलर्ट है और हर संभव कोशिश की जा रही है। उधर, कालूचक मिलिट्री स्टेशन की घटना को लेकर सोमवार को पुलिस ने कुंजवानी, पुरमंडल मोड़, बाड़ी ब्राह्मणा, रत्नूचक, नेशनल हाईवे आदि पर वाहनों को रोक कर तलाशी अभियान चलाया। पुलिस और सेना ने मिलकर इन तमाम जगहों पर तलाशी अभियान चलाया है।

एसएसपी जम्मू चंदन कोहली का कहना है कि पुलिस भी इस पर पूरी नजर रखे हुए है। लगातार दो दिन की घटनाओं को लेकर पूरा अमला अलर्ट है। सभी पुलिस प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र में संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं।