बार-बार मोबाइल चलाने से रोकने पर नाबालिग बेटी ने किया सुसाइड

सांकेतिक तस्वीर

बिलासपुर:  बार-बार मोबाइल चलाने से रोकने पर नाबालिग बेटी (Minor Girl) ने सुसाइड कर लिया. अस्पताल (Hospital) में इलाज के दौरान बेटी की मौत हो गई. मामला हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर (Bilaspur) जिले में रिपोर्ट हुआ है. पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है. जानकारी के अनुसार, बिलासपुर के भराड़ी के एक गांव में माता-पिता ने तेरह साल की बच्ची को मोबाइल चलाने से रोका तो उसने जहर खा लिया. उपचार के दौरान बच्ची की मौत हो गई. दायरा गांव की यह घटना है.

एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल रेफर

13 वर्षीय बेटी आठवीं की छात्रा थी. छात्रा को प्राथमिक उपचार के लिए परिजन जाहू ले गए, लेकिन जहां से उसकी गंभीर हालत को देखते हुए भोरंज अस्पताल रेफर किया गया और यहां पर उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई. बेटी के पिता दिहाड़ी मजदूरी करते हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने पुलिस को बताया कि सोमवार को वह काम के लिए गए थे. दोपहर को जब खाना खाने के लिए घर आए तो उनकी बेटी को उल्टियां आ रही थी. बेटी को पूछा तो उसने बताया कि उसने जहरीले पदार्थ खा लिया है.

क्या कहना  है पुलिस का

परिजन उसे अस्पताल के गए, लेकिन अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. मृतिका के पिता ने पुलिस को बताया कि वह बेटी को ज्यादा मोबाइल चलाने से मना करते थ. इसके अलावा बेटी को किसी और के घर जाने से मना करते थे. इसी बात को लेकर उनकी बेटी जिद्द करती थी. डीएसपी अनिल कुमार ने बताया कि पिता के बयान लेकर मामला दर्ज किया गया है.