हिमाचल: एक और विधानसभा सीट हुई खाली, अब 3 जगह होंगे उपचुनाव

शिमला. हिमाचल प्रदेश में शिमला जिले के जुब्बल-कोटखाई से भाजपा (BJP) विधायक नरेंद्र बरागटा (Narender Bargata) के निधन के बाद अब सूबे में एक और विधानसभा सीट खाली हो गई है. अब प्रदेश में तीन जगह जगह उपचुनाव होंगे. कांगड़ा की फतेहपुर विधानसभा सीट जहां कांग्रेस विधायक सुजान सिंह पठानिया के निधन के बाद खाली हो गई थी. वहीं, बाद में मंडी लोकसभा सीट (Mandi Loksabha Seat) से सांसद चुने गए रामस्वरूप शर्मा का भी निधन हो गया था. अब एक और विधानसभा सीट खाली हो गई है.

क्या हैं तीनों सीटों के सियासी समीकरण

कांगड़ा के फतेहपुर विधानसभा सीट पर बीते एक दशक से कांग्रेस का कब्जा रहा है. यहां से सुजान सिंह पठानिया 2012 के बाद से विधायक चुने गए थे. वह वीरभद्र सरकार में मंत्री भी रहे. बाद में उनकी मौत होने से यह सीट खाली हो गई थी. मंडी संसदीय सीट पर भाजपा का परचम रहा है. यहां से सांसद रामस्वरूप शर्मा लगातार दूसरी बार लोकसभा चुनाव जीते थे. 2014 में मोदी लहर के बाद वह 2019 में भी यहां से चार लाख से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की थी. लेकिन हाल ही में कुह माह पहले दिल्ली में उन्होंने सुसाइड कर लिया था.

नरेंद्र बरागटा ने सबसे पहला चुनाव साल 1998 में जीता था. इसके बाद 2002 में उन्हें हार मिली. 2007 में वह फिर जीते और मंत्री बने. लेकिन 2012 में फिर से हिमाचल के पूर्व सीएम रहे रामलाल ठाकुर के बेटे रोहित ठाकुर ने उन्हें हराया. अब बरागटा के निधन से जुब्बल कोटखाई सीट खाली हो गई है. इस सीट पर बीते दस साल में कांग्रेस और भाजपा का कब्जा रहा है.