देश में कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार पड़ीं धीमी, लेकिन मौत के आंकड़ों में कोई कमी नहीं

नई दिल्‍ली. देश में कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave) की रफ्तार अब धीमे पड़ती दिखाई पड़ रही है. कोरोना (Corona) का ग्राफ भले ही नीचे जाने लगा है लेकिन मौत (corona death) के आंकड़े अभी भी डरा रहे हैं. भारत में 9 मई से कोरोना के आंकड़े लगातार कम रिकॉर्ड किए जा रहे हैं लेकिन मौत के आंकड़ों में कोई कमी नहीं आई है. 31 मार्च को देश में कोरोना के 72 हजार केस सामने आए थे, जो 30 अप्रैल को 4 लाख पार कर गया था. इसी तरह मौत के आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो देश में 31 मार्च को 458 मरीजों की मौत हुई थी जबकि 30 अप्रैल को ये आंकड़ा बढ़कर 3525 हो गया था. 6 मई को देश में कोरोना के सबसे ज्‍यादा 4,14,280 केस सामने आए थे और इस दिन 3923 मौतें रिकॉर्ड की गईं थीं.

कोरोना के आंकड़ों को देखें तो 9 मई के बाद से कोरोना के नए मामले कम होने लगे थे, लेकिन मौत के आंकड़ों में किसी भी तरह का कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है. पिछले काफी समय से मौत के आंकड़े 4 हजार को पार कर रहे हैं. ऐसा नहीं है कि इस तरह के हालात केवल भारत में ही दिखाई पड़ रहे हैं. कोरोना के दौर में ऐसा पहले भी हुआ है जब केस और मौतों के ट्रेंड अलग-अलग रहे हैं.