सिरमौर: कोरोना कर्फ्यू व जिला दंडाधिकारी के आदेशों से बेफिक्र लुधियाना पंचायत के काफ़ी लोग ले रहे थे शादी का आनंद

हिमाचल प्रदवश में  कोरोना महामारी की दूसरी लहर में डीएम के आदेशों व कर्फ्यू की खुलेआम अवहेलना करने वालों पर संगड़ाह में पुलिस प्रशासन ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। वीरवार आधी रात करीब एक बजे के बाद डीएसपी संगड़ाह शक्ति सिंह व एसडीएम डॉ. विक्रम सिंह नेगी ने पंचायत प्रधान विरेंद्र सिंह व पुलिस बल के साथ लुधियाना गांव में एक शादी समारोह में रेड की।

डीजे की धुन पर नाच रहे थे लोग

शादी समारोह में न केवल साउंड सिस्टम, धाम, टेंट व काफी संख्या में कुर्सियों की व्यवस्था की गई थी, बल्कि प्रशासन की छापेमारी के दौरान काफी लोग डीजे की धुन पर कोविड महामारी को भूल जमकर बिना मास्क डांस कर रहे थे। कोरोना कर्फ्यू व जिला दंडाधिकारी के आदेशों से बेफिक्र लुधियाना पंचायत के काफ़ी लोग ले  रहे थे आनंद। छापामारी करने पहुंची डीएसएपी व एसडीएम ने इस बात पर हैरानी जताई कि बार-बार कहने व कार्रवाई के बावजूद लोग ऐसा कर रहे हैं।

स्वास्थ्य खंड संगड़ाह में कोरोना पॉजिटिविटी दर इस माह 40 फीसदी तक पंहुचने का एक मुख्य कारण ऐसे शादी समारोहों में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन न किया जाना भी समझा रहा है।

डीएसपी संगड़ाह शक्ति सिंह ने बताया कि दूल्हे के पिता मेलाराम द्वारा 20 लोगों को शादी में बुलाने की अनुमति भी शुक्रवार की ली गई थी तथा भीड़ पहले दिन ही जुटाई गई। उन्होंने कहा कि समारोह में इस्तेमाल कुर्सियां, टेंट व डीजे को कब्जे में ले लिया गया है। कोरोना कर्फ्यू तथा डीएम सिरमौर के आदेशों के उल्लंघन के लिए आईपीसी की धारा 188, 269, 270 व 51 डीएम एक्ट के तहत दूल्हे के पिता मेलाराम के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

 कोविड प्रोटोकॉल  का करें पालन
उन्होंने कहा कि आरोपी को जमानत पर रिहा कर दिया है। एसडीएम संगडाह डॉ. विक्रम सिंह नेगी ने लोगों से शादी समारोह व अन्य कार्यक्रमों में भीड़ न जुटाने तथा कोरोना कर्फ्यू को लेकर उपायुक्त सिरमौर द्वारा जारी आदेशों का पालन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल व डीएम के आदेशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।