हिमाचल: 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को लगेगी कोरोना संक्रमण कि17 मई से वैक्सीन

हिमाचल प्रदेश में 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 17 मई से वैक्सीन लगेगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि राज्य सरकार ने 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लिए 1.07 लाख वैक्सीन खुराकें दी हैं और टीकाकरण इस माह की 17 तारीख से शुरू होगा। उन्होंने कहा कि टीकाकरण ‘पहले आओ, पहले पाओ’ के आधार पर किया जाएगा। यह अवधि पंजीकरण के समय से तय होगी। इस आयु वर्ग में करीब 32 लाख लोग हैं।

बुधवार शाम को सीरम इंस्टीट्यूट से राज्य को 1,07,000 कोरोना वैक्सीन की पहली खेप मिल गई। सीरम कंपनी की ओर से पुणे से भेजी डोज बुधवार शाम करीब 5 बजे शिमला पहुंची। हालांकि, मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल को यह पता नहीं था कि दूसरे दिन बुधवार को ही यह खेप मिल जाएगी। बिलासपुर में पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा था कि 18 से 44 साल के लोगों के लिए 1 लाख 7 हजार डोज हफ्ते-दस दिन में मिल जाएगी। बुधवार को मुख्यमंत्री ने पंचायती राज प्रतिनिधियों की बैठक ली तो उसमें भी इस आयु वर्ग के लिए टीकाकरण शुरू करने की मांग उठी।

इस आयु वर्ग के लिए टीकाकरण शुरू करने का सरकार पर दबाव पिछले कई दिनों से था। सीएम ने बुधवार शाम उच्चस्तरीय बैठक ली और उसमें इस महीने की 17 तारीख से इस अभियान को शुरू करने का निर्णय ले लिया। हालांकि, टीकाकरण अभियान तेजी से आगे बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार से दूसरी खेप की मांग भी की गई है। केंद्र ने यह साफ किया है कि बिना पंजीकरण के वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी। यह सब इसलिए किया जा रहा है, जिससे वैक्सीनेशन सेंटरों पर भीड़ न हो। 44 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए भी केंद्र सरकार से डेढ़ लाख अतिरिक्त डोज मिल चुकी है।

इनका होगा प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण 
सीएम ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने समाज के कुछ वर्गों का उनकी ड्यूटी के आधार पर प्राथमिकता से टीकाकरण का निर्णय लिया है। हिमाचल पथ परिवहन निगम के चालकों-परिचालकों, निजी ट्रकों और बसों के चालकों-परिचालकों, ईंधन पंप संचालकों, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की उचित मूल्य दुकानों के धारकों, कोविड ड्यूटी पर अध्यापकों, बैंकों और वित्तीय सेवाओं के स्टाफ, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति के स्टाफ, केमिस्ट और लोकमित्र केंद्रों के संचालकों का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण हागा।