सिरमौर: 11 दिन के भीतर 42 लोगों की मौत, 3422 लोग कोरोना संक्रमित

नाहन:  सिरमौर में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। मई माह के 11 दिन के भीतर जिले में कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर के साथ-साथ मृत्यु दर में भी बढ़ोतरी हुई है। इस माह अब तक जिला में कोरोना संक्रमण से 42 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 3422 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

नाहन में बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में उपायुक्त सिरमौर डॉ. आरके परूथी ने कहा कि जिला में अब कोरोना सभी क्षेत्रों में फैल चुका है। 1 से 11 मई तक जिला में कोरोना संक्रमण से 42 लोगों की मौत हो चुकी है। मई माह में लगभग प्रतिदिन चार लोग कोरोना संक्रमण से जंग हार रहे हैं। अप्रैल में जहां मृत्यु दर प्वाइंट 99 प्रतिशत थी, वहीं मई माह में यह बढ़कर 1.23 प्रतिशत पहुंच गई है।

मई माह में अब तक जिला के विभिन्न क्षेत्रों में 9705 लोगों की सैंपलिंग की गई, जिसमें से 3422 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। लिहाजा जिला में मई माह में कोरोना की पॉजिटिविटी दर 35.26 प्रतिशत तक पहुंच गई है। उपायुक्त डॉ. परूथी ने बताया कि शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ जिला में पंचायत स्तर पर भी कोरोना संक्रमण तेजी के साथ बढ़ता जा रहा है।

उपायुक्त ने बताया कि अप्रैल माह में जहां जिला की कुल 259 पंचायतों में से 211 पंचायतें ऐसी थी, जहां पर कोरोना का एक भी मामला नहीं था, लेकिन अब मई माह में महज 65 पंचायतें ही ऐसी बची हैं, जहां पर संक्रमण का एक भी मामला नहीं है। उन्होंने कहा कि जिला के सभी भागों में कोरोना संक्रमण फैल चुका है। उपायुक्त ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोविड प्रोटोकाल के साथ कोरोना कर्फ्यू के नियमों का सख्ती से पालन करें। जनता के सहयोग से ही कोरोना संक्रमण के खतरे को आगे बढ़ने से रोका जा सकता है।

उन्होंने बताया कि जिला सिरमौर में अब तक 1,25,800 लोगों की सैंपलिंग की जा चुकी है, जो जिला की कुल जनसंख्या की 21 प्रतिशत से ज्यादा है। उन्होंने बताया कि जिला में कोरोना काल में ओवरआल पॉजिटिविटी दर 8.68 प्रतिशत है। वर्तमान में जिला में 2843 सक्रिय मामले हैं। जबकि जिला का रिकवरी रेट 73 प्रतिशत है। वहीं ओवरआल मृत्यु दर 99 प्रतिशत है। मई माह में पॉजिटिविटी के साथ-साथ मृत्यु दर में बढ़ोतरी हुई है।

डॉ. परूथी ने बताया कि जिले में 142 बिस्तरोें की व्यवस्था मरीजों के लिए की गई हैं। इनमें 71 लोग दाखिल हैं। वहीं, अधिक क्रिटिकल कंडीशन वाले लोगों के लिए नाहन में 66 बिस्तर स्थापित किए गए हैं, जहां 27 लोग दाखिल हैं। इसी तरह साईं अस्पताल में 18 बिस्तर की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन बिस्तर के लिए मरीजों को नाहन रेफर न किया जाए। इसके लिए शिलाई, राजगढ़ और संगड़ाह में भी ऑक्सीजन बिस्तर की व्यवस्था की जा रही है।