हिमाचल दिवस: इन कर्मचारियों के लिए मानदेय की घोषणा

सीएम जयराम ठाकुर ने पधर में हिमाचल दिवस पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कहा कि 15 अप्रैल हिमाचल वासियों के लिए गर्व का दिन है। गौरवमयी इतिहास में धामी गोलीकांड और सुकेत आंदोलन अहम है। सीएम ने कहा कि देश की रक्षा में जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। 1971 में जब प्रदेश पूर्ण राज्य बना तब भी विकास नहीं हो पाया। यहां विकास को गति देना कठिन काम था।

आज हिमाचल की गिनती मुख्य प्रदेशों में है। 2022 से पहले हिमाचल की 3615 पंचायतें सड़क सुविधा से जुड़ेंगी। सीएम ने कहा कि हर्ष का विषय है कि राज्य स्तरीय कार्यक्रम मंडी के पधर में हो रहा है। मंडी जिले की हिमाचल में अलग पहचान है। मंडी जिला को टूरिज्म डेस्टिनेशन बनाना सरकार का लक्ष्य है।

हिमाचल दिवस पर सीएम जयराम ठाकुर ने घोषणा करते हुए कहा कि कोविड काल मे सेवाएं देने वाले तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मियों को दो माह तक 1500 रुपये का मानदेय दिया जाएगा। होटल इंडस्ट्री को राहत देते हुए सीएम ने डिमांड चार्ज दो माह तक स्थगित करने की घोषणा की। पैसेंजर टैक्स में तीन माह तक 50 फीसदी छूट देने की घोषणा की।

सीएम तीन साल के कार्यकाल में जनता के सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि हमें इस बात का अफसोस रहेगा कि एक साल कोविड के कारण खराब हुआ। बावजूद इसके हिमाचल विकास की और अग्रसर है। जनमंच की शुरुआत की। सीधा लोगों से संवाद और मंत्री, अधिकारी समस्या का समाधान करते हैं। 12 हजार मकान इस साल गरीब परिवारों को दिए जाएंगे।

कोविड का संकट समाप्त नहीं हुआ, एक समय था जब बेहतर काम किया और कमी भी आई। दूसरी लहर खतरनाक है। लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है। सीएम ने लोगों की सहभागिता और चुने हुए प्रतिनिधियों को प्रदेश से इस संकट से निकलने का आग्रह किया। पिछली बार की अपेक्षा इस साल तेजी से वायरस फेल रहा है। कोरोना वॉरियर जिन्होंने जान हथेली पर रखकर सेवा की है मैं उनको सलाम करता हूं।

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि नवरात्रों में दर्शन, पूजा कर सकते हैं। दुखी मन से भंडारों और लंगर पर रोक लगानी पड़ी। शादियां छोटी करें। धाम न करें। पिछली बार छोटी आयु के बच्चे कम संख्या के थे। अब बच्चे चपेट में आ रहे हैं। जिसके चलते 11वीं और 12वीं के एग्जाम स्थगित करने पड़े। इससे बच्चों अभिभावकों को परेशानी हुई इसके लिए माफी चाहता हूं।