निकिता तोमर हत्याकांड: तौसीफ और रेहान को उम्रकैद

फरीदाबाद: हरियाणा के फरीदाबाद के बहुचर्चित निकिता तोमर हत्याकांड में फास्ट ट्रैक कोर्ट का फैसला आ गया है। जस्टिस सरताज बासवाना की कोर्ट ने शाम करीब चार बजे दोनों दोषियों तौसीफ और रेहान को उम्रकैद और 20-20 हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई। हालांकि ऐसा माना जा रहा था कि दोनों को फांसी की सजा सुनाई जाएगी। फैसले की सबसे खास बात यह रही कि यह वारदात पिछले साल 26 अक्टूबर को हुई थी। हत्यांकांड के 151 दिन बाद 26 तारीख को ही कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया।

कोर्ट ने हत्या के मामले में आईपीसी की धारा-302 के तहत दोनों दोषियों को उम्रकैद और 20-20 हजार जुर्माने की सजा का हुक्म दिया है। आईपीसी 366, 34 और 511 में पांच-पांच साल की कैद और 2-2 हजार रुपए जुर्माना तय किया गया है, 120बी में पांच-पांच साल की कैद और 2-2 हजार रुपए जुर्माने के अलावा आम्र्स एक्ट की धारा 27ए में भी दोनों को चार-चार साल की कैद और 2-2 हजार जुर्माने की सजा का फैसला सुनाया गया।

हालांकि निकिता के पिता मूलचंद तोमर और मामा एदल सिंह रावत कोर्ट के फैसले से संतुष्ट नजर आए। दूसरी ओर पहले से की जा रही फांसी की सजा की मांग पर जब बात की गई तो उन्होंने कहा कि कोर्ट ने अपना काम कर दिया। जो भी फैसला आया है, ठीक है। हालांकि साथ ही इस मांग को लेकर उन्होंने सुप्रीम कोर्ट तक जाने की बात भी कही है।