कोरोना मामले बढऩे से सरकार चिंतित, लग सकता है लॉकडाउन: मुख्यमंत्री

हिमाचल प्रदेश में भी लॉकडाउन एक दफा फिर से लग सकता है। जिस तरह से कोरोना की दूसरी लहर में तेजी से संक्रमण फैल रहा है और मामले बढऩे लगे हैं उससे सरकार भी चिंता में पड़ गई है, क्योंकि अब केंद्र सरकार ने भी राज्यों को स्थिति को देखते हुए लॉकडाउन लगाने की छूट दे दी है तो माना जा रहा है कि आने वाले कुछ दिनों में हिमाचल भी यह कदम कोरोना के खात्मे के लिए उठा सकता है।

बुधवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में भी इसके संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि देश में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है, जोकि चिंता की बात है। हिमाचल प्रदेश में भी दूसरी लहर के तहत कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं जिसे सरकार मॉनिटर कर रही है।

लगातार इसपर नजर रखी जा रही है। सीएम ने कहा कि हम नजर रखे हुए हैं, लॉक डाउन लगाने या फिर कोई दूसरा कड़ा कदम उठाने की जरूरत होगी तो सरकार उठाएगी। सीएम ने कहा कि दो दिन बाद सरकार समीक्षा करेगी। स्कूलों को लेकर पूछे सवाल पर सीएम ने कहा कि शिक्षा विभाग से रिपोर्ट मांगी गई है।

स्कूलों, शिक्षण संस्थानों, कॉलेजों को लेकर शिक्षा विभाग रिपोर्ट देगा बताएगा कि आगे क्या किया जा सकता है और स्कूलों में क्या चल रहा है। इसका रिव्यू करने के बाद कदम उठाया जाएगा। 27 मार्च को कैबिनेट की बैठक होनी संभावित है जिसमें कड़े फैसले लिए जा सकते हैं।

सीएम ने एक सवाल पर कहा कि मंदिरों में भी भीड़भाड़ बढ़ रही है। हालांकि एसओपी लागू कर दी गई है मगर श्रद्धालु बड़ी संख्या में यहां पर आ रहे हैं जिनको एसओपी से कठिनाईयां तो होगी परंतु हमें कोरोना को फैलने से रोकना है। उन्होंने कहा कि कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, इसलिए कोई रिस्क नहीं लिया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि दूसरी लहर में 1500 से ज्यादा कोरोना के एक्टिव मरीज हो चुके हैं जो कुछ दिनों पहले ही 200 तक थे। सबसे ज्यादा मामले ऊना जिला में आ रहे हैं जहां पर आज भी कोरोना के कई मामले आए हैं। बुधवार को ही 107 नए मामले कोरोना के सामने आए हैं, ऐसे में स्थिति विस्फोटक हो रही है और चिंताजनक हो सकती है। इसपर सरकार नजर रख रही है और हालात को देखते हुए कड़ा फैसला लिया जा सकता है।