जिला की 259 ग्राम पंचायतों में दो रथों के माध्यम से 51 दिनों तक चलेगी रथ यात्रा

नाहन : स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा की तैयारियों व रूपरेखा को लेकर जिला स्तरीय समिति की प्रथम बैठक आज उपायुक्त कार्यालय के बचत भवन में ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित हुई। ऊर्जा मंत्री ने सभी अधिकारियों को 15 अप्रैल से लेकर 15 जून, 2021 तक आयोजित होने वाली स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा को गंभीरता से लेने के निर्देश देते हुए कहा कि वह विस्तृत कार्य योजना तैयार करें ताकि रथ यात्रा के दौरान सिरमौर में हुआ विकास उभर कर सामने आए। उन्होंने सभी विभागों को अगले 15 से 20 दिनों तक युद्व स्तर पर कार्य करते हुए विभिन्न विकास कार्यो को पूरा करने के निर्देश दिए ताकि अधिक से अधिक लोगों को सुविधा का लाभ मिल सके।
उन्होंनें जल शक्ति विभाग को पीने के पानी की समुचित व्यवस्था करने तथा लोक निर्माण विभाग को सभी सड़कों को दुरूस्त करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने सभी विभागों को पिछले तीन वर्षों की उपलब्धियों को विधानसभा ़क्षेत्र के मुताबिक तैयार कर फलैक्स के माध्यम से जिला के प्रमुख स्थानों पर  प्रदर्शित करने के निर्देश दिए ताकि लोगों को मौजुदा सरकार में हुए विकास की स्टीक जानकारी मिल सके। उन्होंने सभी विभागों को लम्बित कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए ताकि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा रथ यात्रा के दौरान उनका उद्घाटन व शिलान्यास किया जा सके।
बैठक के दौरान बताया गया कि स्वर्णिम हिमाचल रथ यात्रा जिला सिरमौर की 259 ग्राम पंचायतों को दो रथों के माध्यम से 51 दिनों में पूरा करेगी।  15 अप्रैल, 2021 को एक रथ को नाहन के चौगान मैदान से हरी झंड़ी दिखाकर रवाना किया जाएगा तथा दूसरे रथ को बागथन से हरी झंडी दिखाई जाएगी। यात्रा के दौरान कई ग्राम पंचायतों के समूह में जनसभाएं आयोजित कि जाएगी जिसमें सभी विभागों द्वारा अपनी प्रर्दशनिया लगाई जाएगी।
उपायुक्त सिरमौर डॉ0आर0के0परूथी ने ऊर्जा मंत्री व समिति के सभी गैर सरकारी तथा सरकारी सदस्यों का स्वागत किया तथा  अतिरिक्त उपायुक्त प्रियंका वर्मा ने बैठक के दौरान मदों को क्रमवार प्रस्तुत किया।
बैठक में अध्यक्ष राज्य कृषि विपणन बोर्ड बलदेव भण्डारी, उपाध्यक्ष राज्य खाद्य आपूर्ति निगम बलदेव तोमर, निदेशक वन समिति विनय गुप्ता, पूर्व उपाध्यक्ष अनुसूचित जाति जनजाति कल्याण बोर्ड बलबीर सिंह चौहान, पुलिस  अधीक्षक के0सी0 शर्मा तथा समिति के गैर सरकारी व सरकारी सदस्य मौजूद रहे।