बिजली बोर्ड से करीब 1500 आउटसोर्स कर्मियों को निकालने की तैयारी शुरू

शिमला: हिमाचल राज्य बिजली बोर्ड (Himachal Electricity Department) से करीब 1500 आउटसोर्स कर्मियों को निकालने की तैयारी शुरू हो गई है. नवनियुक्त 1552 जूनियर टीमेट और जूनियर हेल्परों के पद संभालते ही आउटसोर्स पर लगे इन कर्मचारियों (Out Source Employe) को अब छुट्टी देने का फैसला हुआ है. हालांकि, बोर्ड प्रबंधन के इस फैसले का विरोध भी हो रहा है. मजदूर संगठन सीटू इन कर्मचारियों की बहाली के लिए 17 मार्च को विधानसभा घेराव करेगा.

ठेकेदारों के माध्यम से आउटसोर्स पर कई कर्मचारी नियुक्त

बीते करीब सात-आठ वर्षों से बिजली बोर्ड ने स्टाफ की कमी के चलते ठेकेदारों के माध्यम से आउटसोर्स पर कई कर्मचारी नियुक्त किए गए हैं. बीते दो-तीन वर्षों से इनकी सेवाएं बंद करने की तैयारी की जा रही थी, लेकिन बोर्ड में नई भर्तियां न होने से इन कर्मियों को सेवा विस्तार दिया जाता रहा. अब प्रबंधन की ओर से जारी पत्र में स्पष्ट किया गया है कि जूनियर टीमेट और जूनियर हेल्परों के पद संभालते ही आउटसोर्स पर लगे लोगों की सेवाएं समाप्त की जाएं.

एक ही सरकार में दोहरे मापदंड क्यों?