सोलन: तहसीलदार दफ्तर ने 5 साल से नहीं चुकाया 31 लाख बिजली बिल, कनेक्शन काटा

सोलन:  हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में पांच साल से बिजली बिल जमा न करवाने पर बिजली विभाग ने तहसीलदार कार्यालय सोलन का कनेक्शन काट दिया. हालांकि, डीसी के अनुरोध पर बाद में कनेक्शन दोबारा जोड़ दिया गया.  दरअसल, बोर्ड ने मिनी सचिवालय स्थित एसी टू डीसी, एसडीएम, चेयरमैन ई-गवर्नेंस, जिला सूचना अधिकारी और तहसीलदार कार्यालय को नोटिस जारी कर दो दिन में बकाया बिजली बिल जमा करवाने के लिए कहा है. यदि ऐसा नहीं हुआ तो तीन मार्च को कनेक्शन काट दिया जाएगा.

31 लाख रुपये का बिल
तहसीलदार दफ्तर सोलन का बिल पिछले 5 वर्षों से जमा नहीं हुआ है. इसका 31 लाख 87 हजार 503 रुपये का बिल बकाया है. सोलन के सभी पांच कार्यालयों की कुल बकाया रकम 53 लाख 6 हजार 735 रुपये है. आईपीएच विभाग के 31 करोड़ रुपये बकाया हैं. अन्य कई बड़े प्रतिष्ठानों में भी रकम काफी ज्यादा है.

बिजली विभाग सोलन के अधीक्षण अभियंता राकेश ठाकुर ने कहा कि जिले में करीब 100 करोड़ के बिजली बिल बकाया है. इसमें 31 करोड़ आईपीएच विभाग के हैं. हालांकि, यह साल दर साल जमा होता है. पांच सरकारी कार्यालयों को नोटिस जारी कर बिल जमा करवाने के लिए कहा गया है और इनमें मिनी सचिवालय और तहसील कार्यालय शामिल हैं. इनसे करीब 53 लाख रुपये की राशि बकाया है. अगर बिल जमा न हुए तो बोर्ड तीन मार्च को कनेक्शन काट देगा.

किस विभाग पर कितना बिल
तहसील दफ्तर पर जहां 31,87,503 रुपये बकाया है. वहीं, एसी टू डीसी दफ्तर पर 9,75,103 रुपये, जिला सूचना अधिकारी के ऑफिस पर 5,66,461, एसडीएम दफ्तर, 3,79,769 और डीसी ऑफिस ने 1,97,879 का बिजली बिल नहीं चुका है.