वित्तीय लेनदेन वाले पद से हटाए जाएंगे ठेकेदारों को लाभ पहुंचाने वाले अफसर

सरकारी खजाने से 200 करोड़ रुपये के कार्यों को चहेते ठेकेदारों से कराए जाने के मामले में हिमाचल प्रदेश सरकार लोक निर्माण विभाग (लोनिवि) के 10 इंजीनियरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करने जा रही है। सरकार ने विभाग से इन अफसरों को वित्तीय लेनदेन वाले पदों से हटाने के लिए कहा है। आरोप सिद्ध होने पर इन इंजीनियरों के वित्तीय लाभ रोक दिए जाएंगे।  सेवानिवृत्त हुए आरोपी इंजीनियरों की पेंशन कम की जाएगी और वर्तमान इंजीनियरों को डिमोट भी किया जा सकता है।

हालांकि यह तमाम कार्रवाई चार्जशीट किए इंजीनियरों के जवाब पर निर्भर करेगी। सूत्रों के अनुसार जिन अफसरों पर आरोप लगे हैं, उनमें से सात इंजीनियर लोक निर्माण विभाग में अभी तैनात हैं। यह इंजीनियर पदोन्नत होकर अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंता पद पर तैनात हैं। इनके अलावा तीन इंजीनियर सेवानिवृत्त हो गए हैं। इनमें एक अधिशासी अभियंता और दो सहायक अभियंता पद से सेवानिवृत्त हुए हैं।