हिमाचल प्रदेश की 50 साल की विकास गाथा पहुंचेगी आम जनता तक

हिमाचल प्रदेश की 50 साल की विकास गाथा आम जनता तक पहुंचाने के लिए राज्य में रथ यात्रा चलेगी। गांव स्तर पर इस रथ यात्रा के माध्यम से जनता को बताया जाएगा कि हिमाचल 50 साल पहले कहां पर था और आज कहां तक पहुंचा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल को यहां तक पहुंचाने के लिए राज्य की जनता का आभार जताया है।

उन्होंने कहा कि बिना जनता के सहयोग से हिमाचल यहां तक नहीं पहुंच पाता। यहां पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐतिहासिक रिज पर स्वर्णिम हिमाचल कार्यक्रम होगा, जिसमें देश के गृह मंत्री अमित शाह मुख्य अतिथी होंगे और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा विशेष रूप से उपस्थित होंगे। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर 25 जनवरी को सभी जिला मुख्यालयों और उपमंडल स्तर पर भी स्वर्ण जयंती समारोह विषय पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिला और उपमंडल स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन 11 बजे तक संपन्न हो जाएगा। इसके उपरांत वे शिमला में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में वर्चुअली शामिल होंगे। जयराम ठाकुर ने कहा कि भविष्य के हिमाचल को बनाने के लिए जनता के सुझाव लेकर एक विजन डाक्यूमेंट बनाया जाएगा। कार्यक्रमों की रूपरेखा बताते हुए उन्होंने कहा कि स्वर्णिम हिमाचल’ समारोह का एलईडी स्क्रीन के माध्यम से प्रदेश के सभी जिलों और उपमंडल स्तर पर सीधा प्रसारण किया जाएगा। स्वर्णिम हिमाचल समारोह के दौरान विशेष डाक टिकट का अनावरण, ‘हिमाचल तब और अब’ वृतचित्र का प्रसारण और ‘कॉफी टेबल बुक’ का विमोचन भी किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि विकास के लिए वांछित मूलभूत संरचना और धन का नितांत अभाव होते हुए भी प्रदेश ने हार नहीं मानी। राज्य में विभिन्न काल खंडों में रही सरकारों ने प्रदेश के सर्वागींण विकास के लिए सशक्त प्रयास किए। 50 वर्षों के दौरान सड़क निर्माण, शिक्षा के प्रसार, विद्युतीकरण, पेयजल, कृषि एवं बागवानी, विद्युत उत्पादन, पर्यटन विकास, स्वास्थ्य सुविधाएं, औद्योगिकरण, सामाजिक सरोकार सहित अन्य सभी क्षेत्रों में राज्य का अभूतपूर्व विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार का तीन वर्ष का सेवाकाल उपलब्धियों भरा रहा है। इस अवधि में सरकार ने अनेक नई योजनाएं आरम्भ की हैं, जिससे विकास के एक नए युग का सूत्रपात हुआ है। केंद्र सरकार के सक्रिय सहयोग तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आशीर्वाद से प्रदेश में विकास की गाड़ी डबल इंजन के साथ दौड़ रही है। उन्होंने कहा कि सच तो यह है कि विकास यात्रा नितांत बहने वाली एक अविरल धारा है।

इनका योगदान अहम

मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल के विकास के लिए जिन जनप्रतिनिधियों का योगदान रहा ह,ै उन सभी का सम्मान सरकार करेगी। हिमाचल के विकास में डा. यशवंत सिंह परमार, ठाकुर राम लाल,  शांता कुमार, वीरभद्र सिंह, प्रेम कुमार धूमल का विशेष योगदान रहा है।

कनेक्टिविटी पर फोकस

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न वर्गों के लिए घोषणाएं करने या फिर केंद्र सरकार से पैकेज लेने के लिए कोई निर्धारित समय नहीं होता, वह कभी भी किए जा सकते हैं। केंद्र सरकार ने हिमाचल को बहुत कुछ दिया है। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना राज्य के विकास में सबसे बड़ी मददगार योजना रही है, जिसने पीठ का बोझ खत्म किया है। सीएम ने कहा कि 50 साल में शिक्षा क्षेत्र में हिमाचल ने तरक्की की, वहीं स्वास्थ्य क्षेत्र में उन्नित की है। ऐसे ही कनेक्टिविटी पर अगले 50 साल में हिमाचल का फोकस रहेगा। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि संसाधन जुटाने की बड़ी चुनौती है, जिससे पार पाना है।