स्वास्थ्य कर्मचारियों और डॉक्टरों का सेवाविस्तार खत्म

हिमाचल प्रदेश में अब स्वास्थ्य कर्मचारियों को सेवाविस्तार नहीं दिया जाएगा। प्रदेश में कोरोना की स्थिति में काफी हद तक सुधार हो गया है। इसके चलते सरकार ने यह फैसला लिया है। प्रदेश में जिन स्वास्थ्य कर्मचारियों और डॉक्टरों को सेवाविस्तार दिया गया था। इस महीने के अंत में वे रिटायर कर दिए जाएंगे। कोरोना के चलते जिन स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को फील्ड में ड्यूटी करने के लिए भेजा गया था। उन्हें भी वापस बुलाना शुरू कर दिया है। प्रदेश सरकार ने अस्पतालों में ओपीडी और ऑपरेशन करने शुरू कर दिए हैं। ऐसे के कर्मचारियों की आवश्यकता अस्पतालों में पड़ेगी। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि कर्मचारियों को एक साथ नहीं, बल्कि धीरे धीरे बुलाया जा रहा है।

प्रदेश में कम रह गए एक्टिव मामले 
प्रदेश में दिन-प्रतिदिन कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या घट गई है। अब अस्पतालों और घरों में आइसोलेट कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 500 से कम हो गई है। प्रतिदिन 40 से कम कोरोना मामले रिकॉर्ड किए जा रहे हैं। डेथ रेट में भी काफी सुधार आया है। इस समय डेथ रेट 0.2 फीसदी है। 98 फीसदी के हिसाब से मरीज ठीक हो रहे हैं। स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने बताया कि कोरोना पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है।