हिमाचल में टूरिज्म सेक्टर धीरे-धीरे पटरी पर लौटना हुआ शुरू

पर्यटन नगरी शिमला में पर्यटकों का आना लगातार जारी है. कोरोना संकट के बीच पर्यटकों की संख्या बढ़ना कारोबारियों के लिए अच्छी खबर है. हालांकि, इससे कोरोना संक्रमण का खतरा भी बढ़ा है.

शिमला/कुल्लू. हिमाचल प्रदेश में कोरोना (Corona) के चलते बेपटरी हुआ टूरिज्म सेक्टर (Tourism Sector) अब धीरे-धीरे पटरी पर लौटने लगा है. बर्फबारी और नए साल के चलते मनाली, शिमला (Shimla), डहलौजी समेत सभी टूरिस्ट स्पॉट्स पर टूरिस्ट (Tourist) की आवाजाही काफी ज्यादा बढ़ी है. इस बात का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि शिमला में बीते दस दिन में रिकॉर्ड 1 लाख 41 लाख गाड़ियों की आवाजाही हुई है.

 

पर्यटन नगरी शिमला में पर्यटकों का आना लगातार जारी है. कोरोना संकट के बीच पर्यटकों की संख्या बढ़ना कारोबारियों के लिए अच्छी खबर है. हालांकि, इससे कोरोना संक्रमण का खतरा भी बढ़ा है.

जानकारी के अनुसार, शिमला में बीते 10 दिनों में रिकॉर्ड 1 लाख 41 हजार गाड़ियां शोघी बैरियर से क्रॉस हुई हैं. यह सामान्य ट्रैफिक से कई गुना अधिक है. क्रिसमस के मौके पर शिमला में 17 हजार और नए साल पर 18 हजार गाड़ियों ने प्रवेश किया था. दरसअल, बर्फबारी के चलते टूरिस्टों की संख्या बढ़ी है. शिमला समेत प्रदेश के टूरिस्ट स्पॉट पर बीते दस दिन में कई बार बर्फबारी हुई है.

आज के लिए भारी बर्फबारी का अलर्ट

मौसम विभाग ने दो दिनों के लिए भारी बर्फ का अलर्ट जारी किया है. मंगलवार के हिमाचल में पहाड़ी इलाकों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. साथ ही मध्यपर्वतीय क्षेत्रों में येलो अलर्ट रहेगा. भारी बर्फबारी के अंदेशा के चलते अटल टनल को सैलानियों के लिए बंद किया गया है. यहां पर रविवार को 500 टूरिस्ट बर्फबारी में फंस गए थे. ऐसे में अलर्ट के बाद अब यहां से यातायात रोका गया है.