खतरे में लोगों के बैंक अकाउंट्स, 10 करोड़ Debit-Credit कार्ड यूजर्स का डाटा लीक

रिपोर्ट्स के मुताबिक बताया जा रहा है कि कार्ड धारकों की निजी जानकारियां डार्क वेब पर बेची जा रही हैं. जिन लोगों की जानकारियां लीक हुईं हैं, उनके लिए खतरे की बात है, क्योंकि खाताधारकों के नाम, उनका मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी जैसी संवेदनशील जानकारियां लीक हुईं हैं. साथ ही क्रेडिट और डेबिट कार्ड के शुरुआती चार अंक और आखिरी चार अंक, कार्ड की एक्सपायरी डेट भी लीक हुई है, जिन्हें डार्क वेब पर बेचा जा रहा है.

Data Leak: Debit Card, Credit Card का इस्तेमाल करने वाले करोड़ों लोगों के ऊपर एक खतरा मंडरा रहा है. खबर है कि 10 करोड़ डेबिट और क्रेडिट कार्ड यूजर्स का डाटा लीक हो गया है. जिन लोगों का डाटा चोरी हुई है उनके बैंक खाते मुश्किल में हो सकते हैं. 

 

रिपोर्ट्स के मुताबिक कार्ड यूजर्स का डाटा एक पेमेंट गेटवे से लीक हुआ है जिसका नाम Juspay है. Juspay अमेजॉन, ऑनलाइन फूड बुकिंग प्लेटफॉर्म Swiggy और Makemytrip के बुकिंग पेमेंट को प्रोसेस करता है.
रिपोर्ट में बताया गया है कि इन सभी 10 करोड़ लोगों का डाटा आज से लगभग 5 महीने पहले अगस्त 2020 में लीक हुआ था. यह भी जानकारी सामने आई है कि जो डाटा डार्क वेब में गया है, उसमें यूजर्स की मार्च 2017 से लेकर अगस्त 2020 तक की जानकारी शामिल है.