New Strain of Coronavirus: कोरोना का नया स्ट्रेन पुराने वायरस से खतरनाक, बच्चों को तेजी से करता है संक्रमित

नई दिल्ली: ब्रिटेन वाले कोरोना वायरस (Coronavirus) से सावधान होने को वक्त का आ चुका है क्योंकि ब्रिटेन और यूरोपीय देशों को संक्रमित करने वाला कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन (New Strain of Coronavirus) अब भारत भी पहुंचा चुका है. बेंगलुरू, हैदराबाद, पुणे के अलावा यूपी के मेरठ में भी यूनाइटेड किंगडम (UK) वाले नए कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीज पाए गए हैं.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्ट्रेन को लेकर शोध जारी हैं. ​जिसके बाद ही मालूम चलेगा मासूमों पर नया कोरोना वायरस कितना भारी है. फिलहाल मेरठ की घटना के बाद मासूमों में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर और ज्यादा एहतियात बरतने की बात कही जा रही है.

उत्तर प्रदेश के मेरठ में लंदन से लौटी एक 2 साल की बच्ची भी कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन (New Strain of Coronavirus) से संक्रमित मिली है. जबकि बच्ची के माता-पिता कोरोना वायरस  संक्रमित नहीं पाए गए. वहीं एक बच्ची के कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन  से संक्रमित होने के बाद इस बात की आशंका जाहिर की जा रही है कि कहीं कोरोना का नया स्ट्रेन मासूमों के लिए ज्यादा संक्रामक साबित ना हो.

मेरठ में मिले नए स्ट्रेन से संक्रमित मरीज

बता दें कि ये मामला मेरठ के टीपीनगर की संत विहार कॉलोनी का है, जहां पर लंदन से लौटै लोगों के संपर्क में आने वाले सभी लोगों को ट्रेस करके उनका कोरोना टेस्ट करवाया गया. बताया जा रहा है कि कोरोना का नया स्ट्रेन काफी संक्रामक है. कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन (New Strain of Coronavirus) से खतरे को देखते हुए भारत सरकार ने भी कमर कस ली है.
मेरठ में जिला स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जानकारी दी गई कि संत विहार कॉलोनी में 200 से ज्यादा लोगों की जांच करवाई जाएगी. अब तक 100 लोगों की जांच करवाई जा चुकी है. इसमें 70 लोगों की एंटीजन रिपोर्ट निगेटिव आई है. कोरोना पॉजिटव मिले सभी लोगों को क्वारंटीन किया गया है. ब्रिटेन से आए कोरोना पॉजिटिव मरीज और उनके संपर्क में आए सभी लोग फिलहाल पूरी तरह ठीक हैं.