चौपाल : काम पूरा होने से पहले ही एनएच 707 पर गिरा पूल

चौपाल : हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) और उत्तराखंड (Uttarakhand) राज्य के दुर्गम इलाकों की भाग्य रेखा कहे जाने जाने वाले एनएच 707 पर फेडिज नामक स्थान पर बन रहा अस्थाई पुल (Temporary bridge) निर्माण कार्य पूरा होने से पहले ही गिर गया है. यह घटना आज सुबह की बताई जा रही है. निर्माण कार्य के दौरान पुल का अगला हिस्सा शाल्वी नदी में जा गिरा. इस पुल के गिरने के बाद संबंधित विभाग और ठेकेदार पर इसकी गुणवत्ता को लेकर सवाल उठने शुरू हो गए हैं. आपको बताते चलें कि करीब बीते 10 दिनों से इस सड़क मार्ग पर बड़े वाहनों की आवाजाही पर प्रशासन ने प्रतिबंध लगा दिया था ताकि पुल निर्माण के काम में कोई अवरोध पैदा न हो. चौपाल के एसडीएम ने 16 दिसंबर तक इस सड़क पर प्रतिबंध के प्रभावी रहने की अधिसूचना भी जारी की थी.
गुणवत्ता पर सवालिया निशान
दरअसल, हिमाचल प्रदेश के सिरमौर और शिमला जिले के साथ-साथ उत्तराखंड राज्य के दुर्गम इलाकों को आपस में जोड़ने वाले एनएच 707 में फेडिज नामक स्थान पर बने हुए बेहद पुराने और जर्जर पुल की जगह डबल लेन का पुल बन रहा है. इस पुल के निर्माण में काफी समय लगना तय है. ऐसे में लोगों को लंबे समय तक आवागमन से वंचित न रहना पड़े, इसलिए एक अस्थाई पुल का निर्माण भी किया जा रहा था. मगर अस्थाई पुल का निर्माण कार्य पूरा होने से पहले ही उसका यूं धराशाई हो जाना एनएच विभाग के साथ-साथ कार्य कर रहे ठेकेदार द्वारा उपयोग की जा रही निर्माण सामग्री की गुणवत्ता पर भी सवालिया निशान खड़ा कर रहा है.
गिरे पैनल को जल्द दुरुस्त कर लिया जाएगा
उधर, एनएच डिवीजन नाहन के अधिशासी अभियंता अनिल शर्मा ने बताया कि एनएच 707 पर फेडिज नामक स्थान में अस्थाई पुल का निर्माण कार्य युद्धस्तर पर किया जा रहा है, परंतु आज सुबह अचानक पुल के पैनल खुलने से पुल का अगला हिस्सा गिर गया है. जिसे बहुत जल्द ठीक कर दिया जाएगा.