16 जनवरी से कोविड-19 का टीकाकरण अभियान शुरू

देशभर में 16 जनवरी से कोविड-19 का टीकाकरण अभियान शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में आज देश में कोविड-19 की स्थिति तथा राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों में टीकाकरण की तैयारियों की उच्‍चस्‍तरीय समीक्षा बैठक की गई। बैठक में मंत्रिमंडल सचिव, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, स्‍वास्‍थ सचिव और संबंधित वरिष्‍ठ अधिकारियों ने हिस्‍सा लिया।

प्रधानमंत्री ने विभिन्‍न मुद्दों से संबंधित कोविड प्रबंधन की स्थिति की विस्‍तृत और व्‍यापक समीक्षा की। राष्‍ट्रीय नियामक ने कोविशील्‍ड और कोवैक्‍सीन – दो टीकों को आपात स्थिति में इस्‍तेमाल करने की अनुमति दी। इन टीकों की सुरक्षा और प्रतिरोधक क्षमता सिद्ध हो चुकी है। निकट भविष्‍य में आने वाली वैक्‍सीन के संबंध में केन्‍द्र और राज्‍यों की तैयारियों से भी प्रधानमंत्री को अवगत कराया गया।

यह वैक्‍सीन सबसे पहले तकरीबन तीन करोड स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल कर्मियों और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को उपलब्‍ध कराई जाएगी। इसके बाद पचास वर्ष से अधिक की आयु के व्‍यक्तियों और गंभीर बीमारियों से पीडित लोगों को टीका लगाया जाएगा। इनकी संख्‍या तकरीबन 27 करोड है।

प्रधानमंत्री को को-विन, वैक्‍सीन वितरण प्रबंधन प्रणाली के बारे में भी बताया गया। इस पर अभी तक 79 लाख से ज्‍यादा लाभार्थी पंजीकृत हो चुके हैं। टीकाकरण कर्मियों की प्रशिक्षण प्रक्रिया का भी निर्धारण हो चुका है। कुल दो हजार तीन सौ 60 लोगों को राष्‍ष्‍ट्रीय स्‍तर के प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षण दिया गया है। इनमें राज्‍य टीकाकरण अधिकारी, प्रशीतन श्रृंखला अधिकारी, आईईसी अधिकारी तथा अन्‍य भागीदार शामिल हैं। इसके अलावा 61 हजार से ज्‍यादा कार्यक्रम प्रबंधन, दो लाख टीकाकरण कर्मी तथा तीन लाख 70 हजार अन्‍य कर्मियों को राज्‍य, जिला और खण्‍ड स्‍तर पर प्रशिक्षित किया जा चुका है।