13 साल से सेवा देने के बावजूद नियमित नहीं हुए ये कर्मचारी, मांगें पूरी न होने पर दी आंदोलन की चेतावनी

कांगड़ा में आईपीएच वाटरगार्ड कर्मचारी संघ ने अपनी मांगों को लेकर चीफ इंजीनियर आईपीएच को ज्ञापन सौंपा है. इस दौरान मांगों के पूरा न होने पर भूख हड़ताल की चेतावनी भी दी।

धर्मशाला (विवेक)-आईपीएच वाटरगार्ड कर्मचारी संघ ने भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष देशराज पठानिया के नेतृत्व में अपनी मांगों को लेकर जिला मुख्यालय में रैली निकालकर चीफ इंजीनियर आईपीएच को ज्ञापन सौंपा है।
आईपीएच वाटरगार्ड कर्मचारी संघ ने 12 साल बाद वाटरगार्ड को सीधे नियमित करने और पंचायतों के बजाय इस वर्ग को आईपीएच विभाग के अधीन करने की मांग की है. संघ ने कार्रवाई के लिए 10 दिन का अल्टीमेटम दिया गया है. संघ का कहना है कि 10 दिनों के भीतर वाटरगार्ड्स की मांगें पूरी नहीं की गई तो भूख हड़ताल शुरू की जाएगी, जिसकी पूरी जिम्मेदारी आईपीएच विभाग और प्रदेश सरकार की होगी।

वाटरगार्ड कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष जीवन कुमार का कहना है कि पूर्व सरकार ने इस वर्ग को आरएंडपी रूल्स के तहत 12 साल बाद नियमित करने का कानून पास किया था, लेकिन इस वर्ग को 13 साल का समय बीतने के बाद भी इस वर्ग के कर्मियों को नियमति नहीं किया गया है. जीवन कुमार कहा कि बार-बार मांग करने के बावजूद इस वर्ग को पंचायत से निकालकर आईपीएच विभाग के अधीन नहीं किया गया है.