100 फीसदी ऑक्यूपेंसी के साथ शिमला पहुंची हिमदर्शन विस्ताडोम एक्सप्रेस ट्रेन

उत्तर रेलवे की ओर से क्रिसमस और नए साल से पहले शुरू की गई हिमदर्शन विस्ताडोम एक्सप्रेस ट्रेन  100 फीसदी ऑक्यूपेंसी के साथ शिमला पहुंची। 16 दिसंबर से कालका शिमला हैरिटेज ट्रैक पर शुरू की गई स्पेशल ट्रेन 8 दिन बाद 96 सीटों के साथ पैक होकर बुधवार को शिमला पहुंची। रेलवे की पारदर्शी छत वाली हिमदर्शन विस्ताडोम एक्सप्रेस ट्रेन में सफर करने को सैलानी खास तवज्जो दे रहे हैं।

बुधवार सुबह 7: 00 बजे ट्रेन कालका से शिमला रवाना हुई और 11: 55 पर शिमला रेलवे स्टेशन पहुंची। शिमला पहुंचे यात्री आधुनिक सुविधाओं से लैस इस ट्रेन में सफर कर खासे उत्साहित दिखे। ट्रेन का एक ओर का किराया प्रति सीट 800 रुपये है। शिमला से ट्रेन 3 : 50 बजे कालका को रवाना हुई। ट्रेन में 6 फर्स्ट क्लास एसी पारदर्शी कोच और एक फर्स्ट क्लास सिटिंग कम लगेज कोच है। कालका से शिमला तक 96 किलोमीटर सफर तय करने में ट्रेन ने करीब 5 घंटे का समय लिया।

कोच की खासियत
वातानुकूलित है, खिड़कियां मोटे पारदर्शी शीशे की हैं जो सामान्य से ज्यादा बड़ी हैं।
छत भी शीशे की है, कोच का इंटीरियर भी खास तौर पर डिजाइन किया गया है।
डिब्बे, दरवाजे और खिड़कियों में कठोर शीशे का इस्तेमाल, स्टील रेलिंग भी लगाई गई है।
एलईडी लाइटें, तापमान मापक यंत्र भी लगा है, कोच में वेस्टर्न टॉयलेट की सुविधा उपलब्ध।
होटलों में 70 फीसदी ऑक्यूपेंसी, दो बजे पैक हो गई लिफ्ट पार्किंग
क्रिसमस से पहले भारी संख्या में सैलानियों ने शिमला का रुख करना शुरू कर दिया है। शहर के होटलों में ऑक्यूपेंसी 70 फीसदी तक पहुंच गई है। बुधवार को दोपहर दो बजे कार्ट रोड पर स्थित लिफ्ट पार्किंग पैक हो गई। कार्ट रोड से माल रोड को जोड़ने वाली पर्यटन विकास निगम की लिफ्ट के बाहर भी दिनभर सैलानियों की कतारें लगी रहीं। शिमला टूर एंड ट्रेवल एजेंट्स एसोसिएशन के महासचिव मनु सूद ने बताया कि क्रिसमस को लेकर भारी संख्या में सैलानी शिमला का रुख कर रहे हैं। होटलों में 100 फीसदी ऑक्यूपैंसी रहने की उम्मीद है।