किन्नौर: मलबे में तीन और लोगों के शव मिले

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के नेशनल हाईवे-5 पर निगुलसरी के पास पहाड़ टूटने से हुए हादसे के सातवें दिन मंगलवार दोपहर तक मलबे में तीन और लोगों के शव मिले हैं। बचाव दल को ये शव घटनास्थल से करीब 150 मीटर नीचे ढांक में मिले हैं। अब मृतकों की संख्या 28 पहुंच गई है। प्रशासन की सूची के मुताबिक मलबे में दबे सभी शव मिल गए हैं। हालांकि, अभी सर्च ऑपरेशन जारी रखने का फैसला लिया गया है।

बता दें, 11 अगस्त को भावानगर से 10 किलोमीटर दूर नेशनल हाईवे-5 पर निगुलसरी के पास यात्रियों से भरी एचआरटीसी बस, ट्रक, दो कारों और अखबार की गाड़ी पर चट्टानें गिर गई थीं, जिससे कई लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि बस के यात्रियों समेत अन्य लोग मलबे में दब गए थे। सात दिन से एनडीआरएफ, आईटीबीपी, पुलिस, होमगार्ड, एसजेवीएन की सीआईएसएफ की टीमों के 200 से ज्यादा जवानों और स्थानीय लोग बचाव व सर्च अभियान में जुटे हैं।

घटनास्थल पर पहाड़ी से पत्थरों के गिरने का सिलसिला लगातार जारी रहा, जिससे बचाव व खोज अभियान बार-बार बाधित होता रहा। सर्च अभियान में गहरी खाई भी बड़ी बाधा बनी। यही वजह है कि सर्च ऑपरेशन लगातार सात दिन से चलता रहा है। ड्रोन की मदद से लापता लोगों को खोजने की कोशिश की गई। बचाव दल के सदस्यों ने एनएच से करीब 500 मीटर नीचे बह रही सतलुज नदी के पास पहुंचकर बस के टुकड़े खोजे थ्रे। एसपी किन्नौर एसआर राणा ने कहा कि मलबे में तीन और शव मिले हैं। लेकिन सर्च अभियान अभी जारी रहेगा। वहीं एसडीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि प्रशासन की सूची के मुताबिक सभी मृतकों के शव मिल चुके हैं। लेकिन अभी सर्च अभियान को जारी रखा जाएगा।